धान खरीदी में एक माह से अधिक का समय शेष, किसान परेशान

सुहेला क्षेत्र में धान की कटाई प्रारंभ

By: Gulal Verma

Updated: 23 Oct 2020, 04:17 PM IST

सुहेला। अंचल के गांवों में अधिकांश किसानों ने धान की कटाई आरंभ कर दी है। हरहुना किस्म की धान पूरी तरह पक चुके हैं। बालियों में लाई आना शुरू हो गए हैं। फसल को इक_ा नहीं करने से बालियां झडऩे से किसानों को भारी नुकसान होगा। वहीं, अन्य किस्म की धान भी पूरी तरह पक चुके हंै। परन्तु, सभी उच्च किस्म की धान के पौधे हरे हैं। इन फसलों को पूर्ण रूप से तैयार होने में पखवाडेभर से अधिक समय लगेगा। लेकिन, शासन द्वारा इस वर्ष धान की खरीदी 1 दिसम्बर से प्रारंभ करने से किसान बेहद चिंतित हैं। क्योंकि, किसानों को फसल की मिंजाई के बाद उसे सुरक्षित रखने में परेशानी होगी।
धान खरीदी आरंंभ होने पर फिर से गाड़ी किराया कर मंडी लाने का भार भी किसानों को उठाना पड़ेगा। कुछ दिन पहले हुई बारिश से अधिकतर धान की फसल बर्बाद हो चुकी है। शासन- प्रशासन से फसल बीमा के तहत मुआवजे की मांग की गई थी। अभी कई खेतों में पानी भरा हुआ है। मानसून की बेरुखी को देखते हुए किसान जल्द से जल्द अपना धान काटने में लगे हैं। पानी भरे होने से धान कटाई में कठिनाई हो रही है और इस बार हार्वेस्टर भी नहीं चल पाएगी। किसानों को परंपरागत रूप से फसल काटना होगा। कई किसान धान को खेतों के मेड़ या सड़़क पर सूखा रहे हंै। हालांकि किसानों के लिए थोड़ी राहत की खबर ये है कि लगभग 15 दिनों से अच्छी धूप होने के कारण खेतों से पानी कम होने के आसार है।
भारतीय किसान संघ के प्रदेश प्रचार प्रमुख नवीन शेष ने बताया कि हजारों एकड़ फसल असमय बारिश के कारण खराब हो गई है, परन्तु बीमा कंपनी इसका मुआवजा नहीं दे रही है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned