अधिकारी-कर्मचारियों की कार्यशैली से क्षुब्ध जनप्रतिनिधियों ने नपा के मुख्य दरवाजे पर जड़ा ताला

कार्यालय परिसर में पंडाल लगाकर किया विरोध दर्ज

By: Gulal Verma

Updated: 21 Jan 2021, 04:32 PM IST

बलौदा बाजार। जिला मुख्यालय बलौदा बाजार की नगर पालिका परिषद में बुधवार को नगर पालिका अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के नेतृत्व में पार्षदों ने नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी तथा कुछ कर्मचारियों की कार्यशैली से नाराजगी जताते हुए तथा अधिकारियों की मनमानी से त्रस्त होकर नगर पालिका कार्यालय के मुख्य दरवाजे पर ताला जड़ दिया। जनप्रतिनिधियों ने बाकायदा कार्यालय परिसर में पंडाल लगाकर अपना विरोध दर्ज किया।
नगर पालिका अध्यक्ष चितावर जायसवाल, उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा ने कहा कि नगर पालिका की मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेश्वरी पटेल, इंजीनियर नेमीचंद वर्मा सहित यहां के कई अधिकारी बेलगाम हो चुके हैं। उनके द्वारा लगातार मनमानी की जा रही है, जिसकी वजह से नगर के विकास कार्य ठप हो रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकांश आमजनों से कार्यों के नाम पर पैसा वसूली की जा रही है जिससे आमजन त्रस्त हैं। अधिकारी नगर पालिका को भ्रष्टाचार का अड्डा बना चुके हैं। अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष ने कहा कि नगर पालिका में होने वाले अधिकांश कार्यों की जानकारी उन्हे नहीं दी जाती है। नियमानुसार अध्यक्ष को जिन मामलों की प्रतिलिपि सौंपी जानी चाहिए , वह भी नहीं दी जाती है। नगर पालिका के अधिकारी नगर में क्या कार्रवाई कर रहे हैं, इसकी ना तो पूर्व में सूचना दी जाती है और ना ही बाद में भी किसी प्रकार की जानकारी दी जाती है।
पार्षद संकेत शुक्ला ने आरोप लगाया कि नगर में जल आवर्धन पूरी तरह से फ्लाप हो गया है। वर्तमान में जो भी कार्य हो रहे हैं, उनकी गुणवत्ता की ओर संबंधित अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसकी वजह से गुणवत्ताहीन कार्य हो रहे हैं। संबंधित अधिकारी संबंधित ठेकेदारों से केवल कमीशनखोरी में लिप्त हैं। नगर पालिका के वरिष्ठ पार्षद रोहित साहू ने कहा कि वर्तमान में नगर में आमजनों द्वारा किए जाने वाले निर्माण कार्यों पर नगर पालिका द्वारा नोटिस भेजा जाता है। फिर अंदर ही अंदर संबंधित व्यक्ति को डराकर पैसा वसूल किया जा रहा है। इसी प्रकार नगर में भूमि नामांतरण तथा अन्य कार्यों के लिए भी पैसा वसूलने का कार्य किया जा रहा है। जिसकी शिकायत आमजनों द्वारा बीते कई माह से की जा रही है। नगर में सफाई व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो गयई है। अधिकारी का ध्यान केवल पैसा वसूली पर ही है।
पार्षद नितिन सोनी, सतीश पटेल आदि ने आरोप लगाया कि नगर पालिका की बदहाल व्यवस्था से पूरे नगरवासी त्रस्त हैं। आज केवल पार्षद धरना दे रहे हैं, यदि नगर पालिका के अधिकारियों-कर्मचारियों ने कार्यशैली नहीं सुधारी तो पूरे नगरवासी नगर पालिका परिसर में धरना देंगे। अधिकारियों को पैसा वसूली छोडक़र अपने कार्यों पर ध्यान देना होगा।
जनप्रतिनिधियों ने दिया धरना
बुधवार सुबह 11 बजे नगर पालिका अध्यक्ष चितावर जायसवालए उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा के नेतृत्व में पार्षदों ने पहले नगर पालिका कार्यालय परिसर में कुर्सी लगाकर धरना देकर अपना विरोध दर्ज कराया तथा कुछ देर बाद परिसर में बाकायदा टेंट-पंडाल लगाकर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए। नाराज जनप्रतिनिधियों ने नगर पालिका कार्यालय परिसर में ताला भी जड़ दिया जो बुधवार कार्यालयीन समय 5 बजे तक नहीं खुल पाया था। नगर पालिका के जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों के बीच जारी गतिरोध आगामी कुछ दिनों तक खींचने की आशंका नजर आ रही है, जिसका असर पालिका के कामकाज पर भी पड़ सकता है।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned