छत्तीसगढ़ : FREE में सेनेटरी नेपकिन बांट रहीं PADWOMEN

छत्तीसगढ़ : FREE में सेनेटरी नेपकिन बांट रहीं PADWOMEN

Anupam Rajiv Rajvaidya | Updated: 04 Jul 2019, 10:29:37 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

माओवादी हिंसा प्रभावित दंतेवाड़ा में अभिनव कार्यक्रम शुरू किया गया। मेहरार चो मान कार्यक्रम के तहत महिलाओं को जागरूक किया जा रहा।

रायपुर. छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के माओवादी हिंसा प्रभावित आदिवासी बहुल दंतेवाड़ा जिले में पैडवुमन (PADWOMEN) सेनेटरी नेपकिन का निर्माण करने के साथ ग्रामीण महिलाओं को मुफ्त में बांटती हैं। जिला प्रशासन और नेशनल मिनरल डवलपमेंट कॉरपोरेशन (NMDC) के द्वारा कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी (CSR) के माध्यम से अभिनव कार्यक्रम मेहरार चो मान शुरू किया गया है।

बता दें कि दंतेवाड़ा (DANTEWADA) को शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में पिछड़े होने के कारण केंद्र सरकार ने आकांक्षी जिले के रूप में भी चयनित किया है। यहां विशेषकर ग्रामीण परिवेश की अधिकतर महिलाएं स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं होने और लोकलाज के कारण मासिक धर्म के समय सेनेटरी नेपकिन (SANITARY NAPKINS) का उपयोग नहीं करतीं।
मेहरार चो मान
मेहरार चो मान यानी महिलाओं का सम्मान कार्यक्रम का उद्देश्य महिलाओं में स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता लाना एवं मासिक धर्म के समय सेनेटरी नेपकिन का उपयोग कराना है। वर्तमान में दंतेवाड़ा जिले के दो विकासखंडों में महिला स्वसहायता समूह के माध्यम से सेनेटरी नेपकिन तैयार करने का कार्य शुरू किया गया है। ये पैडवुमन (PADWOMEN) स्वयं सेनेटरी पैड (SANITARY PAD) निर्माण करती है तथा ग्रामीण महिलाओं को इसकी उपयोगिता समझाते हुए इसका नि:शुल्क वितरण भी कर रही है।
फ्री में वितरण
पैडवुमन (PADWOMEN) स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा चयनित ग्रामों में महिलाओं से चर्चा कर उन्हें प्रेरित करने का कार्य भी कर रही हैं। वर्तमान में स्कूल, आश्रम, पोटा केबिनों की बालिकाओं के साथ-साथ ग्रामीण महिलाओं को फ्री (FREE) में सेनेटरी पैड का वितरण किया जा रहा है।
11 हजार सेनेटरी पैड पैकेट हर माह
कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बताया कि महिलाओं में स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता बढ़ाने एवं जीविकोपार्जन का अतिरिक्त साधन मुहैया कराने की इस योजना के तहत पांच केंद्रों में लगभग 45 महिलाओं द्वारा हर महीने 11 हजार सेनेटरी पैड (SANITARY PAD) पैकेट बनाने का काम किया जा रहा है। इस कार्य से समूह की महिलाएं औसतन लगभग 4 हजार रुपए की अतिरिक्त आय भी अर्जित कर रही हैं। उन्होंने बताया कि जिले की सभी महिलाओं को एक वर्ष तक सेनेटरी नेपकिन (SANITARY NAPKINS) का निशुल्क वितरण किया जाएगा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned