बैंक से पैसे निकालने के लिए नगरवासियों की लगी भीड़, संक्रमण का खतरा

नगर के बाजारों, दुकानों, मुख्य मार्गों के बाद अब बैंको में लगी भीड़ को देखकर आमजनों के मन में सहज प्रश्न उठता है कि इतनी भारी लापरवाही करने के बावजूद कोरोना से कैसे निपटा जाएगा।

By: dharmendra ghidode

Updated: 29 May 2020, 05:22 PM IST

बलौदाबाजार. चिराग तले अंधेरा की कहावत को जिला मुख्यालय की बैंको में बीते कुछ दिनों से लगी भीड़ सच साबित करती है। कहने को तो जिले में धारा 144 लगी है तथा जिले में दर्जन भर से अधिक कोरोना संक्रमित मरीजों के बाद प्रशासन के पूरी तरह से चौकस रहने के दावे भी किए है। लेकिन जिला मुख्यालय के इकलौते मुख्य मार्ग के ऐन किनारे स्थित बैंको में मनमानी भीड़ है जिसकी ओर ना तो प्रशासन का ध्यान है और ना ही लोगों में जागरुकता है।
नगर के बाजारों, दुकानों, मुख्य मार्गों के बाद अब बैंको में लगी भीड़ को देखकर आमजनों के मन में सहज प्रश्न उठता है कि इतनी भारी लापरवाही करने के बावजूद कोरोना से कैसे निपटा जाएगा। उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय की जिला सहकारी बैंक में बीते कुछ दिनों से प्रतिदिन सैकड़ो लोगों की भीड़ जमा रहती है। गुरुवार को जानकारी लिए जाने पर उपस्थित लोगों ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा दिए गए बोनस को निकालने के लिए भीड़ लगी हुई है।
उपस्थित लोगों की संख्या का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बैंक के कैंपस से लेकर बैंक के बाहर नगर के इकलौते मुख्य मार्ग तक खाताधारकों की दोपहिया खड़ी रहती है। बैंक के अंदर लोगों को धूप से बचाने के लिए बैंक प्रबंधन द्वारा पंडाल की व्यवस्था की गई है। इसी पंडाल के नीचे सैकड़ों लोग अपनी बारी की प्रतिक्षा करते बैठे हुए थे। इस दौरान ग्राहकों द्वारा आपस में पान-गुटका को बाकायदा शेयर किया जा रहा है तथा बैंक परिसर में लगे वाटर फि ल्टर में ही एकजुट होकर पेयजल का भी उपयोग किया जा रहा है।
बैंक परिसर में ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है और ना ही सभी लोग मॉस्क या गमछा का उपयोग किए हुए थे। इसकी वजह से इस प्रकार लोगों की भीड़ कोरोना संक्रमण को न्यौता देने के लिए पर्याप्त है। इस संबंध में बैंक प्रबंधन ने बताया कि बैंक के अंदर पांच लोगों को ही प्रवेश दिया जाता है। बैंक के बाहर ग्राहकों की भीड़ रहती है जिसे व्यवस्थित करने के लिए नोडल कार्यालय की ओर से पुलिस अधीक्षक को तथा संबंधित पुलिस स्टेशन के टीआई को लिखित रूप से आवेदन कर सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मियों की व्यवस्था किए जाने की मांग की गई है।
अन्य बैंको का भी यही हाल
जिला सहकारी बैंक के साथ ही नगर के कई निजी तथा शासकीय बैंको में भी बीते कुछ दिनों से इसी प्रकार ग्राहकों की भीड़ नजर आ रही है। वहीं ग्रामीण ईलाकों के जिला सहकारी बैंको में भी बोनस निकालने वाले किसानों की भीड़ नजर आ रही है। जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढऩे के बावजूद इस तरह की लापरवाही जिलेवासियों के लिए भारी पड़ सकती है।
जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या बीस
जिले के पलारी तहसील के ग्राम कोनारी में बुधवार देर शाम कोरोना का एक और नया मरीज मिला है। इसे मिलाकर केवल कोनारी में ही मरीजों की संख्या 3 हो गई है। बुधवार के प्रकरण को मिलाकर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 20 पहुंच गई है। इनमें से 4 लोग रायपुर में इलाज के बाद पूर्णत: स्वस्थ होकर वापस भी हो गए हैं। जिले की सक्रिय मरीजों की संख्या 16 है जिनका इलाज रायपुर में चल रहा है। बताया गया कि मरीज प्रवासी श्रमिक है तथा वह गांव के ही स्कूल में क्वारंटाइन पीरियड में था। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने बताया कि बुधवार के मरीज का इलाज माना स्थित कोविड अस्पताल में किया जाएगा। क्वारंटाइन सेंटर को पूर्व में ही कण्टेन्मेंट जोन घोषित किया जा चुका है लिहाजा वहां बाहरी लोगों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा हुआ है। मरीज की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री खंगाली जा रही है।

Corona virus
dharmendra ghidode Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned