सीएम बोले- क्वारंटाइन सेंटर में किसी को भी दिक्कत नहीं हो, नियमित मॉनिटरिंग के निर्देश

मुख्यमंत्री ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव को इन क्वारंटाइन सेंटरों की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। वर्तमान में प्रदेशभर में 19 हजार 374 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए है, जिसमें 2 लाख 23 हजार 150 लोग रह रहे हैं।

By: Karunakant Chaubey

Published: 06 Jun 2020, 03:29 PM IST

रायपुर. क्वारंटाइन सेंटरों से लगातार आ रही अव्यवस्था की शिकायतों को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिख है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे श्रमिकों और अन्य लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। उनके ठहरने, भोजन, पेयजल, स्वास्थ्य जांच, मनोरंजन सहित सभी आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध हों। मुख्यमंत्री ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव को इन क्वारंटाइन सेंटरों की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। वर्तमान में प्रदेशभर में 19 हजार 374 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए है, जिसमें 2 लाख 23 हजार 150 लोग रह रहे हैं।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि सभी क्वारंटाइन सेंटरों में नोडल अधिकारी तैनात किए जाएं और रह रहे लोगों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। सभी लोग मास्क लगाए और सोशल-फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। मुख्यमंत्री ने कहा है क्वारंटाइन सेंटरों की नियमित साफ-सफाई, आस-पास के बरामदे और पेयजल स्थल के आस-पास ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव तथा लोगों के स्नान और बार-बार हाथ धोने के लिए पर्याप्त पानी की व्यवस्था हो। क्वारंटाइन सेंटर में ठहरे गर्भवती माताओं, बच्चों और वृद्धजनों की देखभाल की विशेष व्यवस्था रहें।

गर्भवती महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य जांच और उनका समय पर टीकाकरण हो। इसके अलावा अन्य बीमारियों से पीडि़त खासकर वृद्धजनों की स्वास्थ्य जांच कर उन्हें दवाएं उपलब्ध कराई जाए। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम गठित आवश्यक दवाओं के साथ क्वारंटाइन सेंटरों में तैनात रहें। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाए।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned