कांग्रेस ने केंद्र सरकार से पूछा- किसके कब्जे में है गलवान

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हम अपने शहीदों को सलाम करते हैं। उनके सर्वोच्च बलिदान को याद करते हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने चीन को भारत की जमीन पर कब्जा करने क्यों दिया। चीन से लडऩे के लिए हमारे जवानों को निहत्थे क्यों भेजा। मोदी सरकार मौन क्यों है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 26 Jun 2020, 10:27 PM IST

रायपुर. प्रदेश कांग्रेस ने स्पीकअप फॉर मार्टियर्स अभियान के तहत भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है। सोशल मीडिया अभियान में वीडियो संदेश जारी करते हुए कांग्रेस नेताओं ने पूछा, लद्दाख की गलवान घाटी और पेंगांगत्सो झील पर अभी किसका कब्जा है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हम अपने शहीदों को सलाम करते हैं। उनके सर्वोच्च बलिदान को याद करते हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने चीन को भारत की जमीन पर कब्जा करने क्यों दिया। चीन से लडऩे के लिए हमारे जवानों को निहत्थे क्यों भेजा। मोदी सरकार मौन क्यों है। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा, 15 जून को एलएसी की घटना से मोदी सरकार की नाकामी प्रदर्शित होती है। इसके लिए प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री जिम्मेदार हैं।

गृहमंत्री ने कहा, केंद्र सरकार चीन को हमारी जमीन कैसे दे सकती है। हमारी जमीन पर चीन कैसे कब्जा कर सकता है। सरकार ने चीनी सेना से लडऩे अपने सैनिकों को निहत्थे क्यों भेजा। हम इसका जवाब चाहते हैं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, गलवान में हमारे 20 जवानों की शहादत के बाद भी प्रधानमंत्री मोदी ने चीन को क्लीनचिट क्यों दिया। क्यों कहा, हमारी सीमा में कोई घुसपैठ नहीं हुई।

मरकाम ने पूछा, क्या गलवान घाटी भारतीय क्षेत्र में नहीं है। चीनी सेना ने पेगांगत्सो झील पर कब्जा कर लिया है। क्या वह भारत में नहीं है। अगर हमारे कब्जे में नहीं है तो कहां है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, चीनी और अंतरराष्ट्रीय मीडिया में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण का इस्तेमाल गलवान और पेंगांगत्सो झील में कब्जे को सही ठहराने के लिए किया जा रहा है। मोदी को इस पर बोलना चाहिए। उन्हें अपने कृत्य के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

बापू की प्रतिमा के पास श्रद्धांजलि

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को रायपुर के टाउनहॉल स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास इक_ा होकर गलवान के शहीदों को मौन श्रद्धांजलि दी। सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक प्रदेश भर में ऐसे कार्यक्रम हुए। कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर संदेश रेकार्ड कर मोदी सरकार पर सवाल भी उठाए।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned