नक्सलगढ़ में गश्त करेंगी छत्तीसगढ़ पुलिस की ये महिला जवान, नक्सलियों को देंगी मुंहतोड़ जवाब

नक्सलगढ़ में गश्त करेंगी छत्तीसगढ़ पुलिस की ये महिला जवान, नक्सलियों को देंगी मुंहतोड़ जवाब

Ashish Gupta | Publish: Feb, 15 2018 01:31:31 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ में माआेवादियों को पुरुष जवान के साथ अब महिला जवान भी मुहंतोड़ देंगी। इसके लिए करीब ७०० महिला बल को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

रायपुर . माओवादी मोर्चे पर शीघ्र ही छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स और जिला पुलिस की महिला टीम को तैनात किया जाएगा। मार्च के अंतिम सप्ताह में उन्हें भेजने की योजना बनाई गई है। इसके लिए करीब 700० महिला बल को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

पुलिस प्रशिक्षण केंद्र माना में उनकी ट्रेनिंग अंतिम चरण में चल रही है। इसके पूरा होने के बाद चिन्हांकित किए गए तेजतर्रार नवप्रशिक्षु को बस्तर भेजा जाएगा। उनके लिए अलग महिला यूनिट बनाई जाएगी। वह बलवा से लेकर सर्चिंग, कानून व्यवस्था, तलाशी अभियान, घायलों को प्राथमिक उपचार और जनरल ड्यूटी के साथ ही ऑपरेशन में शामिल किया जाएगा। विभागीय अधिकारी इसकी तैयारियों में जुटे हुए है।

बताया जाता है कि उनकी तैनाती से राज्य और केंद्रीय सुरक्षा बलों पर दबाव कम करने में मदद मिलेगी। ज्ञात हो कि राज्य पुलिस के साथ ही केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल भी बस्तर में इंडिया रिजर्व बटालियन (आईआर) का गठन कर चुकी है। इसमें शामिल किए गए करीब 200 महिलाओं को अंबिकापुर में प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

माओवादियों ने बड़ी संख्या में महिला यूनिट को अपने कॉडर में शामिल किया है। वह फोर्स का ध्यान भटकाने से लेकर विस्फोट बिछाने और ऑपरेशन में शामिल होते है। तलाशी अभियान के दौरान उनके सामने आने से सुरक्षाबलों को परेशानियों के साथ ही कानूनी अड़चने आती है। फोर्स का रास्ता रोकने के लिए छेड़छाड़ और अनाचार का आरोप तक मढ़ दिया जाता है। इसके कारण कई बार फोर्स को अपनी कार्रवाई बंद कर खाली हाथ लौटना पड़ता था। इसे देखते हुए केंद्र और राज्य सरकार इसके गठन के कवायद में जुटी हुई थी।

नई बटालियन
राज्य सरकार की स्वीकृति के बाद छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स (सीएएफ) की तीन नई बटालियन क्रमांक 19, 20 और 21 का गठन किया गया है। इसमें करीब 2500 लोगों की आरक्षक और अन्य पदों पर भर्ती की गई है। इसे शुरू करने के लिए शेष पदों को पदोन्नति के पूरा किया जाएगा। गौरतलब है कि इस नई बटालियन का मुख्यालय महासमुंद में बनाया गया है।

तैनाती होगी
बस्तर डीआईजी ने कहा कि पी सुंदरराज ने कहा कि छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स के महिला यूनिट को माना में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसके बाद उन्हें आवश्यकता के अनुसार बस्तर क्षेत्र में तैनात किया जाएगा।

Ad Block is Banned