डीकेएस: बर्न यूनिट में ड्रेसरों ने काम करने से किया इनकार, संक्रमण का खतरा

राजधानी के दाऊ कल्याणसिंह सुपरस्पेशलिटी (डीकेएस) अस्पताल में विगत तीन दिनों से बर्न यूनिट में डे्रसिंग बंद होने से मरीजों में संक्रमण होने का खतरा बढ़ गया है। डे्रसरों ने काम करने से मना कर दिया है। प्रबंधन ने भी उनको हॉस्पिटल आने पर रोक लगा दी है।

रायपुर. डीकेएस के 35 बिस्तरों वाले बर्न यूनिट में हमेशा 25 से 30 मरीज रहते हैं। मरीजों का हर दूसरे दिन ड्रेसिंग जरूरी होती है। ड्रेसिंग नहीं होने से घाव में इंफेक्शन हो सकता है, जो मरीज के मौत का कारण तक बन सकता है। बर्न यूनिट में भर्ती राजनांदगांव, कसडोल, महासमुंद और अंबिकापुर के मरीजों की स्थिति गुरुवार को जब बिगडऩे लगी तो परिजन डीकेएस के उप अधीक्षक हेमंत शर्मा से शिकायत करने पहुंच गए। कसडोल की मनू ओर राजनांदगाव के छविलाल साहू ने बताया कि ३-४ दिनों से उनके परिजन बर्न यूनिट में भर्ती है। ड्रेसिंग करने के लिए कहा जाता है तो डे्रसर मना कर देते हैं। डे्रसिंग नहीं होने से घाव में संक्रमण होने लगा है। उन्होंने बताया कि इतने दिनों में एक बार भी ड्रेसिंग नहीं हुई है। परिजनों की शिकायत पर डॉक्टरों व नर्सों को ड्रेसिंग के काम में लगा दिया। डीकेएस में डेलीवेजेज पर 8 ड्रेसर कार्यरत हैं। नाम न छापे जाने की शर्त पर एक नर्स ने बताया कि डे्रसर अक्सर काम से मना कर देते हैं, जिससे उनका पूरा काम उनको करना पड़ता है।

नर्स और डॉक्टरों ने भी की थी शिकायत
मरीज के परिजनों से पहले ड्रेसरों की नर्स और डॉक्टरों ने शिकायत की थी। उप अधीक्षक सभी ड्रेसरों को कार्यालय में बुलाकर समझाईश देकर काम करने कहा तो सभी ने इनकार कर दिया। शाम को सभी ड्रेसर डेढ़ माह की छुट्टी का आवेदन भी लगा दिया। बताया जाता है कि नियमित वेतन नहीं मिलने तथा बर्न यूनिट में ड्रेसिंग का सामान नहीं होने से ड्रेसर आक्राशित थे। उन्होंने इसकी शिकातय कई बार अस्पताल प्रबंधन से भी की थी।

डॉ. हेमंत शर्मा, डीकेएस, रायपुर के उप अधीक्षक ने बताया कि अधीक्षक के आदेश पर सभी ड्रेसरों को नौकरी से निकाल दिया गया है। तीन नई नियुक्ति भी कर दी गई है। ड्रेसरों के खिलाफ काफी दिनों से शिकायत मिल रही थी। कई दिनों से डॉक्टरों व नर्स ड्रेसिंग कर रहे थे।

Nikesh Kumar Dewangan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned