scriptfrauds blew crores of rupees from mandi board account in raipur CG | अधिकारीयों के गैर-जिम्मेदराना रवैये के चलते शातिरों ने उड़ाए खाते से करोड़ों रुपए | Patrika News

अधिकारीयों के गैर-जिम्मेदराना रवैये के चलते शातिरों ने उड़ाए खाते से करोड़ों रुपए

मंडी बोर्ड के बैंक खाते से जुड़े मोबाइल नंबर में अलर्ट मैसेज आने के बाद भीं अधिकारीयों ने ध्यान नहीं दिया जबकि 23 दिन तक शातिर करोड़ों रुपए निकालते रहे। इन सब में अधिकारीयों कि भूमिका भी संदिग्ध है।

रायपुर

Updated: June 27, 2022 06:46:24 pm

रायपुर. छत्तीसगढ़ राज्य कृषि विपणन (मंडी) बोर्ड के डूंडा स्थित एक्सिस बैंक के खाते से करोड़ों रुपए शातिरों ने उड़ा लिए। 23 दिन में 13 बार रकम निकली, लेकिन बोर्ड के अधिकारियों ने इतने दिनों में एक बार भी ध्यान नहीं दिया कि उनके बैंक खाते से दूसरे खातों में इतनी रकम क्यों ट्रांसफर हो रही है और जिन खातों में रकम जा रही है, उनसे मंडी बोर्ड का किसी तरह का लेन-देन है या नहीं? आरोपियों को पुलिस ने दो दिन की रिमांड पर लिया है।

fraud was caught after 37 days
9 लाख का पेट्रोल, डीजल बेचा, रकम डकार पंप स्टाफ

मजे की बात है कि खाते से हर आहरण के बाद उससे जुड़े मोबाइल नंबर में अलर्ट मैसेज भी आया होगा? इस पर भी मंडी बोर्ड के अधिकारियों का ध्यान नहीं गया। इससे बोर्ड के अधिकारियों-कर्मचारियों की भूमिका को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं। दूसरी ओर पकड़े गए आरोपियों के पास बैंक खाते का पासबुक, चेकबुक भी था, जिसमें कूटरचना करके पैसा निकालते रहे। यह चेकबुक, पासबुक खाताधारक के पते पर डाक या कोरियर के माध्यम से जाता है, लेकिन इसमें आरोपियों के पास कैसे पहुंच गया? पुलिस ने रविवार को पकड़े गए आरोपियों से 38 लाख रुपए और बरामद किया है। आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

क्या है मामला
मंडी बोर्ड के एमडी भुवनेश यादव और लेखाधिकारी केसी शर्मा की ओर से 19 मई को एक्सिस बैंक के डूंडा ब्रांच में एक बचत खाता 922010025774139 खोला गया था। इसके बाद बोर्ड ने अपने तीन बैंकों से 60 करोड़ रुपए निकालकर इस खाते में जमा किया था और 23 मई से ही खाते से फर्जी आरटीजीएस पर्ची के जरिए रकम निकलने लगे। 14 जून तक 11 आरटीजीएस और 2 स्थानांतरण के जरिए बोर्ड के खाते से कुल 16 करोड़ 40 लाख 12 हजार 655 रुपए अलग-अलग 13 बैंक खातों में जमा हुए। 13 बैंक खातों से फिर रकम दूसरे 13 बैंक खातों में ट्रांसफर किया गया।

इस बीच मंडी बोर्ड के अधिकारियों यह भी चेक नहीं किया कि उनके बैंक खाते से रकम दिल्ली, मुंबई, गुजरात, बेंगलुरु जैसे शहरों के बैंक खातों में भुगतान क्यों हो रहा है। दूसरी ओर एक्सिस बैंक का मैनेजर संदीप आरोपियों से मिला हुआ था। बाद में मंडी बोर्ड की ओर से 30 करोड़ की एफडी करने के लिए पर्ची एक्सिस बैंक भेजा, तो उस समय अधिकारियों को शक हुआ। इसी दौरान एक ईमेल भी मिला, जिसमें मंडी बोर्ड के अधिकारियों को फर्जीवाड़े के संबंध में जानकारी दी गई थी।

38 लाख और हुए बरामद
मामले में गिरफ्तार एक्सिस बैंक के मैनेजर संदीप रंजनदास, कोटक महिंद्रा के मैनेजर गुलाम मुस्तफा, सौरभ मिश्रा, समीर कुमार जांगड़े, मोहम्मद आबिद खान को पुलिस ने रविवार को न्यायालय में पेश किया। पुलिस ने उन्हें दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है। उनसे ठगी में इस्तेमाल दस्तावेजों की जब्ती की जाएगी। पुलिस ने उनसे ठगी के 38 लाख रुपए और बरामद किया है। छत्तीसगढ़ के बाहर अलग-अलग बैंकों में जमा 98 लाख रुपए को होल्ड कराया है। इससे पहले 84 लाख रुपए बरामद किया था।

मामले के मास्टरमाइंड सत्यनारायण वर्मा उर्फ़ सतीश वर्मा और सांई प्रवीण रेड्डी को पुलिस ने हैदराबाद से गिरफ्तार कर लिया है। देर रात पुलिस उसे लेकर रायपुर पहुंची। पुलिस का दावा है कि पूरे मामले का मास्टरमाइंड सतीश वर्मा है। सतीश और चंद्रभान ने बैंक मैनेजर और बोर्ड के अधिकारियों को झांसा दिया। अपने साथियों के साथ कूटरचित दस्तावेज पेश करके राशि को दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिया था।

कई कारोबारी संदेह के दायरे में
मामले में आरोपियों ने जिन लोगों के बैंक खाते में रकम ट्रांसफर किया है, पुलिस उन्हें भी संदेही मान रही है। इसमें कई लोग शहर के कारोबारी भी हैं। बताया जाता है कि आरोपी सौरभ मिश्रा के पास ही मंडीबोर्ड का चेकबुक और पासबुक था। और उसी में कूटरचना करके आरटीजीएस के जरिए रकम का आहरण किया गया है। सौरभ का एक राजनीतिक दल से भी संबंध है। उसके रायपुर और मुंबई के दो कारोबारियों से भी संबंध है। कुछ रकम उनके खाते में भी जमा किया है। पुलिस उसकी तलाश कररही है।

जिन शहरों से रकम निकले हैं, वहां पुलिस रवाना
मामले में अन्य आरोपियों के शामिल होने की संभावना है। बताया जाता है कि आरोपियों ने दिल्ली, मुम्बई, गुजरात, बेंगलुरु व अन्य राज्य के शहरों के बैंक खाते में राशि को जमा किया था। वहां से राशि का आहरण भी हो गया। पुलिस अब आहरण करने वालों की तलाश कर रही है ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.