शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्चूलों को जल्द मिलेगी पुस्तक, जिला शिक्षा अधिकारी ने प्राचार्यों से मांगी छात्रों की जानकारी

राजधानी में स्कूल शिक्षा विभाग राज्य सरकार के निर्देश पर 3 शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूलों का संचालन कर रहा है। 1 नवंबर को इन स्कूलों का उद्धाटन हो सकता है। स्कूलों में छात्रों का प्रवेश हो चुका है और ऑनलाइन क्लास भी विभागीय अधिकारियों ने शुरू कर दी है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 25 Oct 2020, 07:57 PM IST

रायपुर. राजधानी में संचालित होने वाले शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल के छात्रों को जल्द पाठ्य पुस्तक उपलब्ध होगी। जिला शिक्षा अधिकारी और पाठ्य पुस्तक निगम के जिम्मेदारों ने पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बात मामला संज्ञान में लिया है। जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूलो के प्राचार्यों से पाठ्य पुस्तक ना पाने वाले छात्रों की जानकारी मांगी है। जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी को मुहैय्या होते ही एक हफ्ते के अंदर पुस्तक छात्रों को उपलब्ध हो जाएंगी, ऐसा अफसरों का दावा है।

50 प्रतिशत छात्रों को मिल चुकी है किताब

राजधानी में स्कूल शिक्षा विभाग राज्य सरकार के निर्देश पर 3 शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूलों का संचालन कर रहा है। 1 नवंबर को इन स्कूलों का उद्धाटन हो सकता है। स्कूलों में छात्रों का प्रवेश हो चुका है और ऑनलाइन क्लास भी विभागीय अधिकारियों ने शुरू कर दी है। विभाग अधिकारियों की मानें तो जब स्कूल खुला तब 40 बच्चों को प्रवेश दिया गया था। उन्हें किताब भी मुहैय्या करा दी गई थी।

सालाना फीस नहीं देने पर छात्रों को डिफाल्टर घोषित कर रहे स्कूल, सोशल मीडिया में वायरल करने की धमकी

छात्रों के आवेदन ज्यादा आने से सीटों की संख्या बढ़ाई दी गई, जिस वजह से 40 और बच्चों का प्रवेश मिला, लेकिन उन्हें किताब नहीं मिल पाई है। इन बच्चों को पुस्तक ना मिलने से परेशानी होती होगी, इस बात को जिम्मेदार स्वीकार करते है। पूर्व में जिला शिक्षा अधिकारी ने प्राचार्यों को पुस्तक वितरण कराने की जिम्मेदारी दी थी, लेकिन विभाग में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से वितरण अटक गया।

पत्रिका ने उठाया था मुद्दा

छात्रों को किताब उपलब्ध हो सके, इसलिए पत्रिका ने छात्रों की समस्या को प्रमुखता से उठाया था। उक्त मामले में जिला शिक्षा अधिकारी और पाठ्य पुस्तक निगम के जिम्मेदारों से चर्चा की। विभागीय जिम्मेदारों ने जल्द से जल्द पुस्तक वितरण कराने की बात कही है। पत्रिका के प्रयासों को छात्रों के परिजनों ने सराहना की है।

प्राचार्यों से पुस्तक ना पाने वाले छात्रों की जानकारी मांगी है। छात्रों की पढ़ाई प्रभावित ना हो, इसलिए तीन दिन के अंदर वितरण किया जाएगा।

-जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी, रायपुर।

ये भी पढ़ें: रविवि छात्रों को कोरियर से नही भेजनी होगी उत्तरपुस्तिकाएं, केंद्रों में रखे जाएंगे डिब्बे

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned