भारत के तीनों सेनाओं के सेल्यूट का अंदाज होता है खास, जानिए उनसे जुड़ी बातें

भारत के तीनों सेनाओं के सेल्यूट का अंदाज होता है खास, जानिए उनसे जुड़ी बातें

Akanksha Agrawal | Updated: 14 Aug 2019, 02:48:13 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

क्या आपने कभी गौर किया है कि हमारे देश के तीनों सेनाओं (Indian Armed forces) के सैल्यूट करने के तरीके अलग- अलग होते हैं। पढ़े इस खबर में आखिर क्यों है सेनाओं के सलामी देने के तरीकों में असमानता।

आकांक्षा अग्रवाल@रायपुर. अक्सर हमनें मिलिट्री (Military) समारोह या स्वतंत्रता दिवस (Independence day) और गणतंत्र दिवस पर हमारे देश के सेनाओं (Indian Armed forces) को सैल्यूट करते देखा होगा। लेकिन क्या आपने कभी भी हमारे देश की तीनों सेनाओं के जवानों को सैल्यूट देखा है? अगर देखा है तो आपने गौर किया होगा कि भारत की थल सेना(Indian Army), जल सेना (Indian Navy) और वायु सेना (Indian Air force) की सैल्यूट करने के तरीके अलग-अलग होते हैं। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि तीनों सेनाओं के सैल्यूट करने के तरीके अलग क्यों हैं।

1. भारतीय थल सेना - भारतीय थल सेना के सैल्यूट करने का तरीका अपनी हथेली को माथे से लगाकर सैल्यूट करना है। आपने कभी न कभी Indian Army के जवानों को सैल्यूट करते हुए देखा होगा। वो हमेशा खुले हुए हाथ से सलामी देते हैं। सारी ऊंगलियां सामने की ओर खुली और अंगूठा साथ में खुला हुआ। यह अपने से सीनियर के प्रति सम्मान जताने का तरीका है। साथ ही यह तरीका यह भी जताता है कि उनके पास किसी भी तरह का कोई भी हथियार नहीं है और आप उनपर भरोसा कर सकते हैं।

2. भारतीय वायु सेना - भारत की वायु सेना के सलामी देने का तरीका खुली हथेली को 45 डिग्री के एंगल पर झुकाकर किया जाता है। जो इस सेना की आसमान की तरफ प्रगति को दर्शाता है। मार्च 2006 से पहले Air force के सैल्यूट करने का तरीका इंडियन आर्मी की तरह ही था, पर मार्च 2006 के बाद इसे बदल दिया गया।

3. भारतीय नौसेना - भारतीय Navy के सलामी देने का तरीका खुली हथेली को जमींन की तरफ इंगित करके किया जाता है। नौसेना में सैल्यूट के लिए हथेली को सिर के हिस्से से कुछ इस तरह से टिकाकर रखा जाता है कि हथेली और जमींन के बीच 90 डिग्री का कोण बनें। इस सलामी की एक बड़ी वजह यह भी है कि पूराने समय में कार्यरत जवानों के हाथ काम करने के कारण गंदे हुआ करते थे, तो वो कुछ इस तरह अपने सीनियर को सलामी देते थे ताकि उन्हें अपमानित न होना पड़े।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned