390 से घटकर अब 195 रुपए की दर पर मिलेगी औद्योगिक जमीन, नवा रायपुर में 235 एकड़ जमीन चिन्हित

- एनआरडीए अगले महीने से प्रक्रिया करेगा शुरू .

 

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 30 Nov 2020, 12:20 AM IST

रायपुर. नवा रायपुर में औद्योगिक जमीनों में 50 फीसदी की छूट के बाद यह दरें 390 से घटकर 195 रुपए प्रति वर्गफीट हो चुकी है। एनआरडीए से मिली जानकारी के मुताबिक दिसंबर महीने में जमीनों के आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। नवा रायपुर के सेक्टर-5 में प्रदूषणरहित उद्योगों के लिए 235 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है, जिसमें पहले फेस के 47 एकड़ में 100 भूखंडों में से 42 की बिक्री पहले ही हो चुकी है।

इसी सेक्टर में 150 एकड़ में 200 भूखंडों को विकसित किया जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक वर्तमान में शेष विकसित भूखंड सेक्टर-5 में रेडी पजेशन में उपलब्ध हैं। नवा रायपुर में प्रदूषणरहित उद्योगों की सूची तय की गई है। इस सूची में पंजीबद्ध उद्योगों को ही जमीनों का आवंटन किया जाएगा। विशेष परिस्थिति में पर्यावरण संरक्षण मंडल की अनुमति के बाद भी जमीनों का आवंटन किया जा सकता है।

आईटी हब के लिए सेक्टर-22
आईटी हब के लिए सेक्टर-22 में 150 एकड़ से अधिक जमीनों का अलग क्लस्टर बनाया गया है, जिसमें सिर्फ आईटी इंडस्ट्री की स्थापना की जाएगी। इसके लिए सीएसआईडीसी को जमीन आवंटन के लिए अधिकृत किया गया है। इस सेक्टर में एनआरडीए से भी जमीनों की खरीदी की जा सकती है। एनआरडीए के एस्टेट मैनेजर विनय अग्रवाल ने बताया कि आईटी इंडस्ट्री के लिए चिप्स की ओर से 80 फीसदी तक की सब्सिडी प्रदान की जा रही है। यहां 10 कंपनियों का निवेश भी किया जा चुका है।

मल्टीप्लेक्स और शॉपिंग मॉल शुरू
एनआरडीए के अधिकारियों के मुताबिक नवा रायपुर में बसाहट, मनोरंजन, व्यापार, रोजगार और उद्योगों के लिए आने वाले दिनों में अन्य योजनाओं को स्वीकृति मिलने वाली है। वर्तमान में यहां शॉपिंग मॉल और मल्टीप्लेक्स शुरू हो चुका है।

औद्योगिक प्रायोजन के लिए जमीनों की दरों में 50 फीसदी की छूट के बाद अगले महीने के पहले हफ्ते तक आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। सेक्टर-5 में रेडी पजेशन में विकसित जमीन प्रदूषण रहित उद्योगों के लिए उपलब्ध हैं।
अंकित आनंद, सीईओ, एनआरडीए

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned