राहत: आज से दूसरे जिलों में भी जा सकेंगी बसें, शर्तों के साथ मिली अनुमति

राज्य सरकार ने सिटी बसों के बाद अब अंतर जिला यात्री बस सेवा (Inter-district Bus services started ) को शुरू करने का आदेश जारी कर दिया है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 26 Jun 2020, 10:39 AM IST

रायपुर. राज्य सरकार (Chhattisgarh Government) ने सिटी बसों के बाद अब अंतर जिला यात्री बस सेवा (Inter-district Bus services started ) को शुरू करने का आदेश जारी कर दिया है। परिवहन विभाग के आयुक्त कमलप्रीत सिंह द्वारा गुरुवार को इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है साथ ही कोरोना संक्रमण को देखते हुए परिवहन विभाग द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने कहा गया है। जारी आदेश में तत्काल प्रभाव से राज्य के भीतर बसों के संचालन की अनुमति दे दी गई है। साथ ही ई-पास अनिवार्यता को समाप्त करते हुए यात्रा के दौरान बस में चढ़ते और बैठते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

चलती बस में मुंह धोना, थूकना, गंदगी फैलाना, शराब, गुटखा, तंबाकू के प्रयोग पर प्रतिबंध रहेगा। यात्रा के दौरान चालक परिचालक के साथ ही सभी को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, बसों के नियमित रूप से सैनिटाइज करने व केबिन में किसी को भी प्रवेश नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं। केबिन को पूरी तरह से बंद रखने प्लास्टिक की पन्नी का उपयोग करने कहा गया है।

परमिट नियमों का पालन
बस मालिकों को परमिट नियमों के अनुसार निर्धारित मार्गो पर समय चक्र के अनुसार ही फेरा लगाने कहा गया है। वहीं बसों को निर्धारित स्टॉपेज पर रोकने और प्रत्येक यात्री को नामजद सूची बनाने का निर्देश दिए गए। ताकि संक्रमित मरीज के मिलने पर तुरंत उसकी पहचान की जा सके।

राज्य सरकार के आदेश के बाद भी ऑपरेटरों ने बसों का संचालन करने पर असमर्थता जताई है। साथ ही 6 माह का टैक्स माफ करने, किराया बढ़ाने, नॉन यूज बसों को बिना टैक्स लिए खड़ी करने की अनुमति देने और स्लीपर बस का टैक्स एक सीट का लेने की मांग की गई है। इसे पूरा करने पर ही बसों को संचालन करने का निर्णय लिया है। वहीं अपनी मांग को लेकर शासन पर दबाव बनाया है।

छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ और बस ऑनर्स एशोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि मांग पूरी होने पर ही वह बसों का संचालन करेंगे। राज्य सरकार द्वारा जिले के अंदर और एक जिले से दूसरे जिले के लिए बसों के संचालन की अनुमति दी। यात्री, ड्राइवर और कंडक्टर मास्क पहनेंगे। बस में गुटखा, तम्बाकू और धूम्रपान करना प्रतिबंधित रहेगा। ड्राइवर-कंडक्टर की ड्यूटी बारी-बारी से कराने और रोजाना सेनिटाइज करना अनिवार्य कर दिया गया है। बस मालिकों द्वारा इससे इंकार किए जाने और मांग रखने से पूरा मामला अटक गया है।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned