कमरछठ आज: माताएं निर्जला व्रत रखकर करेंगी संतान सुख के लिए पूजन

कमरछठ आज: माताएं निर्जला व्रत रखकर करेंगी संतान सुख के लिए पूजन
कमरछठ आज: माताएं निर्जला व्रत रखकर करेंगी संतान सुख के लिए पूजन

Akanksha Agrawal | Updated: 21 Aug 2019, 10:42:27 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

Kamarchhat In hindi: भादोमास की षष्ठी तिथि पर बुधवार को माताएं निर्जला व्रत रखकर संतान की सुख की कामना करेंगी।

रायपुर. भादोमास की षष्ठी तिथि पर बुधवार को माताएं निर्जला व्रत रखकर संतान की सुख की कामना करेंगी। शाम के समय में घर के सामने बावली बनाकर फूली कांस के मंडप के नीचे भगवान शिव-पार्वती की मूर्तियां रखकर कथा सुनेंगी। पूजन सामग्री मिट्टी के भगुवा, फूली कांस, महुआ के पत्ते, दतूअन आदि की खरीदारी की। शहर के गोलबाजार, शास्त्री बाजार, आमापारा, संतोषी नगर की सडक़ के किनारे दुकानें सजी हुई थी। इस व्रत पूजन के महत्व को देखते हुए फसही धान का चावल 120 रूपए से लेकर 150 रूपए तक में बिका।

इस व्रत पूजन की कथा भगवान श्री कृष्ण के बड़े भाई बलराम के जन्म से जुड़ी हुई है। पं मनोज शुक्ला के अनुसार भाद्रपक्ष षष्ठी तिथि पर द्वापरयुग में बलराम का जन्म और अष्टमी तिथि पर भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। इस षष्ठी तिथि पर पुत्रवती माताएं हल चले खेत में पैर नहीं रखती। न ही खेत के अनाज का भोग लगाती हैं। खेत में जो फसही धान उत्पन्न होती है, उसके चावल, महुआ को निकालकर भोग लगाती हैं। घर के आंगन में बावली खोदकर हर मोहल्ले में माताएं कथा सुनकर संतान की सुख की कामना करती हैं। इसके बाद उबला हुआ महुआ और पसहर चावल का भोग लगाकर व्रत खोलेंगी।

सडक़ों के दोनों तरफ लगी दुकानें
आसपास के ग्रामीण अंचलों से महिलाएं षष्ठी व्रत पूजन की सामग्री लेकर शहर पहुंची। सभी प्रमुख सडक़ों और बाजारों के किनारे पसहर चावल से लेकर दोना पत्तल, महुआ की दातुन, कांस आदि की दुकानें लगी है। जहां लोगों की भीउ़ लग रही है।

Kamarchhat की खबर यहां बस एक क्लिक में

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned