3 सीटों पर मतदान के लिए 70 हजार सुरक्षाकर्मी रहेंगे तैनात, 49 लाख मतदाता करेंगे वोटिंग

3 सीटों पर मतदान के लिए 70 हजार सुरक्षाकर्मी रहेंगे तैनात, 49 लाख मतदाता करेंगे वोटिंग

Ashish Gupta | Publish: Apr, 17 2019 08:33:39 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 08:33:40 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण की तीन लोकसभा क्षेत्रों के लिए अपने सांसद चुनने 49 लाख से अधिक मतदाता गुरुवार को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

रायपुर. छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण की तीन लोकसभा क्षेत्रों के लिए अपने सांसद चुनने 49 लाख से अधिक मतदाता गुरुवार को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनके लिए 6 हजार 484 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। तीनों लोकसभा सीटों पर कुल 36 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

इन तीन लोकसभा क्षेत्र में 22 माओवाद प्रभावित क्षेत्र को चिह्नांकित किया गया है। माओवादियों ने कांकेर और धमतरी में पर्चे फेंक कर लोकसभा चुनाव के बहिष्कार करने की बात की है। इसके मद्देनजर जमीन से लेकर आसमान तक सुरक्षा व्यवस्था तगड़ी कर दी गई है। अंतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों में 8 ड्रोन कैमरों की मदद से नजर रखी जाएगी।

शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए 70 हजार राज्य पुलिस, केंद्रीय सुरक्षा बल वनरक्षक और कोटवारों को तैनात किया गया है। साथ ही महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और ओडिशा की सीमाओं को सील कर दिया गया है। तीनों राज्यों की सीमा को जोडऩे वाले 28 प्रमुख मार्गों में चेकपोस्ट बनाए गए हैं।

महिला मतदाता अधिक
बस्तर लोकसभा की तरह इन तीन लोकसभा सीटों पर कुल 49 लाख 7 हजार 489 मतदाता है, इनमें 24 लाख 69 हजार 110 महिलाएं, 24 लाख 38 हजार 320 पुरुष और 59 थर्ड जेंडर के मतदाता हैं।

हेलिकॉप्टर से भेजे गए मतदान दल
माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में मतदान दल को हेलिकॉप्टर से भी रवाना किया गया है। गरियाबंद जिला के विधानसभा क्षेत्र बिन्द्रानवागढ़ के मतदान केंद्र आमामोरा एवं अन्य स्थानों के लिए हेलीकॉप्टर से मतदान दल को रवाना किया गया।

ईवीएम में नहीं लगेगा करंट
एक राजनेता के बयान के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने स्पष्ट किया है कि ईवीएम में किसी भी परिस्थिति में करंट नहीं लग सकता। कार्यालय का कहना है कि यह मशीन पूरी तरह से बैटरी से संचालित होती है, इसमें बिजली का कोई कनेक्शन नहीं होता है। ऐसी स्थिति में करेंट लगने का प्रश्न ही नहीं होता है।

सुरक्षा के कड़े प्रबंध
डीआईजी नक्सल ऑपरेशन पी सुंदरराज ने कहा, दूसरे चरण में होने वाले मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। करीब 22 माओवादी प्रभावित इलाकों को चिन्हांकित किया गया है,इनमें राजनांदगांव, कांकेर से लगे हुए महाराष्ट्र के सीमावर्ती क्षेत्र हैं। अंतिसंवेदनशील केंद्रों में अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned