कांग्रेस MLA रेणु जोगी बिफरीं, बोलीं - पत्नी धर्म निभाने से संविधान रोक सकता, न पार्टी

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के नेता अजीत जोगी के साथ मंच साझा करने के मामले में कांग्रेस के नोटिस का विधायक रेणु जोगी ने जवाब दिया।

By: Ashish Gupta

Updated: 11 Nov 2017, 07:40 PM IST

रायपुर . छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के साथ मंच साझा करने के मामले में कांग्रेस के नोटिस का जवाब देते हुए विधायक रेणु जोगी ने नाराजगी जाहिर की। नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव को भेजे अपने जवाब में रेणु जोगी ने कहा कि आज तक वे छत्तीगसढ़ जनता कांग्रेस के किसी भी कार्यक्रम में कभी शामिल नहीं हुई और न ही अन्य दल के मंच से भाषण दिया।

उन्होंने कहा कि न तो मैंने किसी अन्य पार्टी के साथ मंच साझा किया और न ही अपनी पार्टी के खिलाफ आपत्तिजनक बातें कही। पार्टी द्वारा नोटिस भेजे जाने पर आश्चर्य जताते हुए उन्होंने कहा कि कार्यक्रम उनका परिवारिक था, घर पर आयोजित किया गया था, जो एक पारंपरिक पूजा के तौर पर सालों से मनाया जाता आया है।

Read More : CM रमन सिंह बने दादा, बेटे अभिषेक ने ट्विटर पर फोटो शेयर कर दी जानकारी

रेणु जोगी ने कहा कि पति के बगल में बैठने और त्योहार के दिन सपरिवार साथ रहने के कारण मुझे नोटिस दिया जाना आश्चर्यजनक लगता है। उन्होंने कहा कि कई बार एक परिवार के सदस्य अलग-अलग राजनीतिक विचारधारा से जुड़े होते हैं, इसका मतलब ये नहीं कि वे परिवारिक कार्यक्रमों में साथ नहीं जा सकते, ये भारत व कांग्रेस पार्टी का लोकतंत्र है, जो एक महिला को उसका पत्नी धर्म और पारिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वहन करने से न संविधान रोकता है और न ही कोई राजनीतिक दल बंदिश लगाता है।

Read More : छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में फेरबदल, 9 इंस्पेक्टर हुए इधर-उधर, देखें लिस्ट

दरअसल, 5 नवंबर को जोगीसार में आयोजित हुए एक कार्यक्रम में अजीत जोगी के साथ अमित जोगी और ऋचा जोगी के साथ रेणु जोगी एक मंच पर मौजूद थी। आरोप है कि उस मंच पर अजीत जोगी ने कांग्रेस को खूब खरी-खोटी भी सुनायी थी। जिसके बाद प्रदेश कांग्रेस ने रेणु जोगी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।

Congress
Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned