किसानों के चक्काजाम आंदोलन को समर्थन का पीसीसी ने किया ऐलान

बिलासपुर जिला स्तर पर प्रत्येक ब्लाक और शहर के कांग्रेस पदाधिकारियों को किसानों के आंदोलन को सफल बनाने जरूरी निर्देश दिया गया है।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 05 Feb 2021, 11:01 PM IST

बिलासपुर. अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के दिशा निर्देश पर पीसीसी ने प्रदेश स्तर पर किसानों के चक्काजाम आंदोलन को समर्थन का एलान किया है। जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि 6 फरवरी को किसानों के चक्काजाम आंदोलन को जिला, शहर, ब्लाक स्तर पर समर्थन देने पदाधिकारियों के बीच जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही सभी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि आंदोलन के दौरान एम्बुलेन्स सेवा को किसी भी सूरत में बाधित नहीं किया जाएगा।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस के निर्देश पर पीसीसी ने प्रदेश स्तर से शहर और ब्लाक तक किसान आंदोलन के समर्थन का एलान किया है। इसी क्रम में बिलासपुर जिलासतर पर प्रत्येक ब्लाक और शहर के कांग्रेस पदाधिकारियों को किसानों के आंदोलन को सफल बनाने जरूरी निर्देश दिया गया है। साथ ही संगठन के नेताओं और कार्यकर्ताओं को यह भी निर्देश दिया गया है कि आंदोलन के दौरान एम्बुलेन्स सेवा को किसी प्रकार की बाधा नहीं पहुंचाएंगे।

केन्द्र पर बनाएंगे दबाव

केशरवानी ने बताया कि 6 फरवरी को दोपहर 12 से तीन बजे तक देश भर के किसान मोदी सरकार के तीनों काले कृषि कानून के खिलाफ चक्काजाम क नाराजगी जाहिर करेंगे। साथ ही तीनों बिल को वापस लेने सरकार पर दबाव बनाएंगे।

किसानों के साथ अत्याचार

विजय ने बताया कि करीब ढाई महीने से अधिक समय हो चुके हैं। देश के किसान दिल्ली बार्डर पर तीनों काले कानून को वापस लेने के लिए सरकार पर दबाव बना रहे हैं। लेकिन केन्द्र सरकार आंदोलन में बैठे किसान संगठनों के साथ मनमानी कर रही है। इस दौरान 11 दौर की वार्ता हो चुकी है। लेकिन सरकार झूठी शान के चलते झुकने को तैयार नहीं है। किसान संगठनों ने एकजुट होकर 6 फरवरी को दोपहर 12 से 3 बजे तक सरकार के खिलाफ तीन घंटे के लिए देश भर में चक्काजाम का एलान किया है।

आंदोलन को समर्थन का एलान

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने किसान संगठनों के चक्काजाम को समर्थन देने का फैसला किया है। एआईसीसी ने निर्देश पर पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि आंदोलन को सफल बनाने प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष रूप से किसानों के साथ कंधा से मिलाकर चलें।

एम्बुलेन्स को छूट

जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि चक्काजाम के दौरान एम्बुलेन्स समेत स्वास्थगत सेवाओं में जुड़े वाहनों को आंदोलन से दूर रखा जाएगा। पीसीसी ने निर्देश दिया है कि आंदोलन के दौरान इमरजेन्सी सेवाओं को किसी प्रकार की बाधा नहीं पहुंचाई जाए। इसलिए कार्यकर्ताओं को पीसीसी के निर्देशों को अक्षरश: पालन करने को कहा गया है।

संगठन को समर्थन का निर्देश

विजय ने जानकारी दी कि सभी किसान संगठित होकर राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्ग में दोपहर 12 से 3 बजे तक चक्काजाम करेंगे। चक्काजाम को सफल बनाने पीसीसी के निर्देश पर सभी ब्लाक अध्यक्षों, स्थानीय पदाधिकारियों, किसान कांग्रेस पदाधिकारियों, स्थानीय प्रदेश पदाधिकारियों, प्रतिनिधियों, सांसद, पूर्व सांसद प्रत्याशी, विधायक, पूर्व प्रत्याशी, पूर्व विधायकों, जिला कांग्रेस कमेटी पदाधिकारियों, समन्वय समिति के सदस्यों, ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, पदाधिकारियों, मोर्चा, प्रकोष्ठ, विभाग के जिला , ब्लाक पदाधिकारियों, सोशल मीडिया के प्रशिक्षिति सदस्यों, नगरीय निकाय, त्रि- स्तरीय पंचायत के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों, सहकारिता क्षेत्र के पदाधिकारियों, वरिष्ठ कांग्रेसजन/कार्यकर्ताओं को समर्थन करने को कहा गया है।

कहां किसको मिली जिम्मेदारी

विजय ने बताया कि कांग्रेस पदाधिकारियों के बीच किसान आंदोलन को सफल बनाने विभिन्न स्थानों पर किसानों के समर्थन की जिम्मेदारी दी गयी है। जयस्तंभ नाका चौक कोटा में आदित्य दीक्षित, बिहारी देवांगन और घनश्याम शिवहरे बेलसरी नाका मेडहे मार्ग - तखतपुर, गीतांजलि कौशिक पेंड्रीडीह बायपास-बिल्हा, झगरराम सूर्यवंशी और राजेन्द्र धीवर -मटियारी चौक बेलतरा के साथ सीपत, लक्ष्मीनाथ साहू - बन्नाक चौक के पास सिरगिट्टी, नागेंद्र राय - दर्रीघाट लावर मोड़ मस्तूरी, राजू साहू - सकरी कोटा मार्ग कानन पेंडारी के पास किसानों का समर्थन करने को कहा गया है।

इसी तरह रामचंद्र पैकरा को केंदा चौक बेलगहना, रमेश सूर्या और महेत्तर लाल कश्यप को खंडोबा बाबा मंदिर के पास हाइये रतनपुर में किसानों के चक्काजाम को समर्थन देने को कहा गया है।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned