रायपुर में रजिस्ट्री घटी, लेकिन बढ़ गई आय

धीरे-धीरे पटरी पर आ रही व्यवस्था

By: VIKAS MISHRA

Updated: 19 May 2020, 01:00 AM IST

रायपुर . सोमवार को रायपुर के चार पंजीयन कार्यालय में 87 रजिस्ट्रियों में से 92 लाख रुपए आय हुई। जबकि शुक्रवार को 133 पंजीयन से 78 लाख रुपए राजस्व प्राप्त हुआ था। जिले के सात पंजीयकों (रायपुर के चार, तिल्दा, अभनपुर,आरंग) के आंकड़ों के मुताबिक यह जानकारी। राज्य शासन ने 13 मई से प्रदेश के सभी पंजीयन कार्यालय में दस्तावेजों की पंजीयन के अनुमति दी गई है। धीरे-धीरे व्यवस्था पटरी पर आ रही है। चौथे दिन जिले के सात पंजीयन कार्यालयों में आय में तकरीबन 27 लाख रुपए आय में बढ़ोतरी हुई है।
प्रदेश में रजिस्ट्री कार्यालयों में जमीन-मकान की खरीदी बिक्री के आंकड़े गिरते नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को प्रदेश मे 993 दस्तावेजों का पंजीयन किया गया था। सोमवार को यह आंकड़ा महज 246 में जाकर अटक गया। सोमवार की आय भी महज 1 करोड़ 83 लाख रही। बीते सप्ताह शुक्रवार को तकरीबन 4 करोड़ रुपए प्रदेश सरकार को राजस्व प्राप्त हुआ था। सोमवार को पंजीयन विभाग के परिसर में बीते दिनों की अपेक्षा सन्नाटा ही छाया रहा। लॉकडाउन में मिली छूट के बीच तीसरे दिन 133 रजिस्ट्रियां हुईं थी, जबकि पिछले साल मई माह की 15 तारीख को 205 रजिस्ट्री हुई थी। इससे करीब चार करोड़ रुपये स्टॉम्प शुल्क के रूप में मिले थे।
यातायात व्यवस्था शुरू होने पर ही बढ़ेंगे आंकड़े

प्रदेश में संपत्ति खरीदने-बेचने में आसपास के राज्य के लोग भी रूचि रखते हैं। इसके अलावा अलग-अलग जिलों में भी लोग आ जाकर रजिस्ट्रियां करवाते हैं। यातायात व्यवस्था शुरू नहीं होने से रजिस्ट्री के आंकड़ों में बड़ा इजाफा देखने को नहीं मिलेगा।

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned