हाईप्रोफाइल इलाके में संचालित क्लब में गोलीकांड ने खोली पुलिस चौकसी की पोल

- वीवीआईपी कॉलोनियों में सुरक्षा को लेकर पुलिस मुस्तैद नहीं।
- चेक प्वाइंट से 20 कदम की दूरी पर आयोजित पार्टी ने पुलिस की सख्ती पर उठे सवाल।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 28 Sep 2020, 11:33 PM IST

रायपुर। तेलीबांधा थानाक्षेत्र के वीआईपी रोड इलाके में संचालित क्वींस क्लब में रविवार रात हुई गोलीकांड की घटना ने पुलिस की मुस्तैदी की पोल खोल दी। रायपुर कलेक्टर के निर्देश पर पुलिस महकमे के अधिकारियों ने लॉकडाउन में चप्पे-चप्पे पर निगरानी करने का दावा किया था।

तेलीबांधा गश्त प्वाइंट से 20 कदम की दूरी पर स्थित होटल क्वींस में बर्थडे पार्टी का आयोजन हो रहा था। गश्त प्वाइंट के सामने से रईसजादों की गाडि़यां भी गुजरी, लेकिन इन गाड़ी चालकों पर पुलिस ने किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की।

जनप्रतिनिधियों की कॉलोनी भी सुरक्षित नहीं
क्वींस क्लब प्रदेश के जनप्रतिनिधियों और आईपीएस अधिकारियों की कॉलोनियों से लगा हुआ है। इसी कॉलोनी में पूर्व सीएम, वर्तमान सीएम के रिश्तेदार, विधायक समेत प्रशासनिक अधिकारी रहते है। इस कॉलोनी में चौकसी के इंतजाम नहीं है। क्वींस क्लब में विवाद और गोलीकांड की घटना के बाद आरोपी फरार हो जाते है ओर उन्हें किसी भी नाकेबंदी पर रोका नहीं जाता है। वीआईपी रोड में अधिकतर मारपीट, विवाद जैसी घटनाएं सामने आती है। इन घटनाओं के बाद भी पुलिस चौकसी नहीं बरतती है।

शनिवार-रविवार कारोबार की रात
वीआईपी कॉलोनी में संचालित नामी होटलों में लॉकडाउन के बावजूद शनिवार-रविवार को कारोबार संचालन होता है। होटल के अंदर अपने ग्राहकों को कारोबार खाना, शराब, समेत अन्य सामान उपलब्ध कराते है। इन सभी काम की जानकारी पुलिस अधिकारियों को भी है। जानकारी होने के बावजूद कोरोना संक्रमण को बुलावा दे रहे, इन कारोबारियों पर ठोस कार्रवाई नहीं होती है।

हुक्का संचालकों का मनपसंद इलाका
वीआईपी रोड़ हुक्का पार्लर संचालकों का मनपसंद इलाका है। इस इलाके में छोटे-बड़े कैफे और पार्लर मिलाकर दो दर्जन से ज्यादा हुक्कर पार्लर है। माना और तेलीबांधा थानाक्षेत्र के अधीनस्थ आने वाले इन इलाको में आए दिन पार्टी होने की जानकारी सोशल मीडिया में आती रहती है।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned