तीन हत्या करने के बाद गढ़ा फिल्म दृश्यम की कहानी, पुलिस को छकाने के बाद कबुला गुनाह

दामाद ने सास सहित 2 बच्चों की हत्या कर शव जलाया
आरोपी को अपनी सास का किसी से अवैध संबंध होने का शक

By: bhemendra yadav

Published: 11 Oct 2019, 01:32 AM IST

रायपुर. उरला इलाके में एक युवक ने अपनी सास और दो बच्चों की हत्या करके उनके शवों को जला दिया। फिर पुलिस से बचने के लिए दृश्यम फिल्म जैसी कहानी गढ़ ली। पूछताछ में दृश्यम फिल्म जैसी कहानी सुनाकर पुलिस को उलझाता रहा। अंत में रात करीब 9 बजे पुलिस की पूछताछ से वह टूट गया और हत्या करना स्वीकार कर लिया।
आरोपी को अपनी सास का किसी से अवैध संबंध होने का शक था। घटना वाली रात दोनों ने शराब पी। इसके बाद विवाद हो गया। इसी दौरान उसने लकड़ी से पीट-पीटकर सास की हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक ग्राम बाना निवासी दुलोरीन बाई (38) अपने बेटे सोनू निषाद (12), संजय निषाद (9) और बेटी मनीषा (17) के साथ रहती थी।
बुधवार को पाटन से उनका दामाद चंद्रकात निषाद आया था। दिनभर चंद्रकांत घर में रहा। शाम को घूमने निकल गया। शाम को करीब 4.30 बजे शराब और मछली लेकर पहुंचा। उस समय दुलोरीन घर पर नहीं थी। कुछ देर बाद लौटी। रात में खाना बनाने के बाद दोनों ने शराब पीया। चंद्रकांत को दुलोरीन का किसी से अवैध संबंध होने का शक था।
इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। नाराज होकर चंद्रकांत ने लकड़ी से सिर पर कई वार किए। इससे दुलोरीन की मौके पर ही मौत हो गई। चीख पुकार सुनकर सोनू और संजय जाग गए। आरोपी ने हत्या करते हुए देख लेने के कारण उनको भी पीट-पीटकर मार डाला।

हत्या के बाद नाटक

हत्या करने के बाद आरोपी दूसरे गांव में नाचा देखने चला गया। वहां लोगों से मिलने के बाद महादेवघाट चला गया और वहां भी कई लोगों से मुलाकात की। इसके बाद सुबह करीब 5 बजे लौटा। उस समय तक तीनों के शरीर से आग बुझ चुकी थी। इसके बाद चंद्रकांत ने नाटक किया। वह गली में निकला और बेहोश होकर गिर पड़ा। उस समय महिला के कुछ रिश्तेदार जाग चुके थे। चंद्रकांत को गिरते हुए देखा, तो उसके पास पहुंचे। फिर चंद्रकांत ने घटना की जानकारी दी। पुलिस को चंद्रकांत पर ही शक था। उससे पूछताछ की गई, तो आरोपी हत्या करने के बाद जहां-जहां गया था, वहां जिन लोगों से मिला था, उनका नाम पुलिस को बताता था। अंतत: देर रात को आरोपी पुलिस के सामने टूट गया और हत्या करना स्वीकार किया।

एफआईआर कराने बुलाया था दामाद को

दुलोरीन बाई के बैंक खाते से किसी ने पिछले माह 1 लाख 40 हजार रुपए निकाल लिए थे। इसकी शिकायत थाने में करने के लिए उन्होंने पाटन के ग्राम पीटकोना निवासी अपने दामाद चंद्रकांत को बुलाया था। वह उसके साथ थाने जाने वाली थी। चंद्रकांत के मुताबिक वह बुधवार सुबह 9 बजे गांव पहुंच गया था। लेकिन किसी काम के चलते दुलोरीन थाने नहीं गई। गुरुवार को थाने में शिकायत करने वाले थे। शाम को गांव में एक व्यक्ति के घर खाने का निमंत्रण था। शाम को दुलोरीन वहां चली गई। शाम को चंद्रकांत शराब पीकर लौटा और उसने दुलोरीन से मछली बनाने के लिए कहा। दुलोरीन ने मना कर दिया था। मृतका की बेटी मनीषा दोपहर में ही मुर्रा गांव चली गई थी। इस कारण घर में केवल महिला और उसके दो बेटे ही रह गए थे।

...और किया विस्तृत खुलासा


उरला थाने सीएसपी अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि आरोपी ने अपनी सास और दोनों बच्चों की हत्या करना कबूल किया है। आरोपी से अन्य बिंदुओं पर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही पूरे मामले का विस्तृत खुलासा किया जाएगा।

bhemendra yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned