शहर के बीच से ले जा रहे थे 110 किलो गांजा, नाकेबंदी देख गाड़ी छोड़कर फरार

सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस, जब्त गांजा की कीमत करीब 6 लाख रुपए

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 06 Aug 2020, 01:42 AM IST

रायपुर. अब तक गांजा तस्करी शहर के बाहरी स्थानों से होती है, लेकिन लॉकडाउन के बीच पहली बार शहर के बीच से गांजा तस्करी हो रही थी। लेकिन पुलिस की नाकेबंदी के चलते तस्कर गांजा लदा बोलेरो बंद पड़ी राइस मिल में छोड़कर भाग निकले। आजाद चौक पुलिस ने वाहन सहित गांजा को जब्त कर लिया है। वाहन में रखी पांच बोरियों में कुल 110 किलो गांजा रखा था। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ नारकोटिक एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है।

पुलिस के मुताबिक मंगलवार को पुलिस को सूचना मिली कि नूतन राइस मिल परिसर में एक बोलेरो वाहन सीजी 07 एके 9332 लावारिस हालात में खड़ी है। इसकी सूचना पर आजाद चौक पुलिस मौके पर पहुंची। वाहन में प्लास्टिक की 5 बड़ी बोरियां लदी थी। बोरियों को खोला गया, तो उसमें गांजा रखा गया था। मौके से कुल 110 किलो गांजा जब्त किया गया है। पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ नारकोटिक एक्ट के तहत जब्त कर लिया है। जब्त गांजा ६ लाख रुपए से अधिक का है।

पुलिस की घेराबंदी देखकर भागा तस्कर : आशंका जताई जा रही है कि गुढि़यारी इलाके में सक्रिय एक गांजा तस्कर का माल है, जिसे वह किसी दूसरे स्थान पर पहुंचा रहा था, लेकिन इसकी जानकारी पुलिस को हो गई। इसके बाद पुलिस ने आजादचौक इलाके में नाकेबंदी और बढ़ा दी। इसके चलते गांजा तस्कर वाहन छोड़कर भाग निकला। बताया जाता है कि गांजा भरे वाहन के आगे एक और वाहन चल रहा था। फिलहाल पुलिस ने अपराध दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

चारों तरफ चेकिंग पॉइंट

लॉकडाउन के चलते रायपुर पुलिस ने चारों दिशा में नाकेबंदी कर दी है। इससे बाहर से गांजा लेकर कोई वाहन शहर के भीतर घुस नहीं सकता। अग्रसेन चौक से पहले सरस्वती नगर और आमानाका पुलिस का चेकिंग पॉइंट है। रायपुरा की ओर से आने वालों के लिए रायपुरा चौक में चेकिंग पाइंट और जीई रोड से आने के लिए भी कई चेकिंग पाइंट को पार करना पड़ता है। एेसे में बाहर से गांजा लाने की संभावना पुलिस को कम नजर आ रही है।
बंद मिल में कैसे पहुंचा वाहन
अग्रसेनचौक से आगे स्टेशन रोड की ओर बढऩे पर रोड के किनारे नूतन राइस मिल है। मिल वर्षों से बंद पड़ी है। खंडहरनुमा हो गया है। इस स्थान पर गांजा लदा बोलेरो कैसे पहुंची? इसकी जांच में पुलिस जुट गई है। आसपास के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं। आशंका है कि पुलिस से बचने के लिए गांजा तस्कर वाहन को सुनसान स्थान पर छोड़कर भाग निकला।

फर्जी नंबर प्लेट

बोलोरो में जो नंबर प्लेट लगाया गया है, वह फर्जी निकला है। पुलिस ने नंबर के आधार पर जानकारी निकाली, तो जब्त वाहन का चेचिस नंबर दूसरा निकला। गांजा तस्करी करने वाले दूसरे वाहन का नंबर प्लेट लगे वाहन से गांजा ले जा रहे थे।

पुरानी बस्ती के सीएसपी मनोज धु्रव ने बताया कि पुलिस की नाकेबंदी को देखकर आरोपी गाड़ी छोड़कर भाग निकले। आरोपियों की तलाश की जा रही है। सीसीटीवी कैमरा खंगाले जा रहे हैं।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned