नगर के ऑटो चालक की बेटी ने बढ़ाया गौरव, पाया मैरिट में दूसरा स्थान

तृप्ती ने कक्षा 10वीं में 400 अंकों में से 393 अंक प्राप्त कर जिले में दूसरा स्थान और नगर में तीसरा स्थान प्राप्त किया

By: chandan singh rajput

Published: 06 Jul 2020, 02:04 AM IST

मंडीदीप. शहर में एक और ऐसी छात्रा है, जिसने घर की विपरीत परिस्थितयों में सफलता प्राप्त कर जिले की मेरिट लिस्ट में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। शासकीय कन्याशाला मंडीदीप में पढऩे वाली छात्रा तृप्ती राजपूत के पिता शहर में ऑटो ड्राइविंग का काम करते हैं। तृप्ती ने कक्षा 10वीं में 400 अंकों में से 393 अंक प्राप्त कर रायसेन जिले में दूसरा स्थान और नगर में तीसरा स्थान प्राप्त किया है।
तृप्ती बताती है कि घर की विपरीत परिस्थितियों के चलते पिता ने उसका एडमिशन निजी स्कूल से सरकारी स्कूल में करा दिया था, जिसके चलते वह कई दिनों तक अपसेट रही, लेकिन वक्त की जरूरत को समझते हुए पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगाना शुरू कर दिया। स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं की मेहनत और माता-पिता की प्रेरणा से मुझे यह सफलता प्राप्त हुई है। तृप्ती का सपना सीए बनना है।

प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त करने वाली वेदिका का किया सम्मान
बरेली. कक्षा दसवीं की परीक्षा में पूरे मध्यप्रदेश की प्रावीण्य सूची में पहला स्थान प्राप्त करने वाली वेदिका विश्वकर्मा को नर्मदा भक्ति पंथ परिवार शाखा रायसेन द्वारा सम्मानित किया गया।
वेदिका को सम्मानित करते हुए संस्था के संरक्षक युद्धवीर सिंह पटेल ने कहा कि नर्मदांचल क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। हम सबको उन प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना चाहिए। इस अवसर पर वेदिका के पिता चैन सिंह विश्वकर्मा एवं नर्मदा भक्ति पंथ परिवार के वरिष्ठ सदस्य खालिद ठेकेदार उपस्थित रहे।

चैन सिंह विश्वकर्मा ने कहा कि बेटी ने प्रदेश में नगर का गौरव बढ़ाया, इसकी उन्हें प्रसन्नता है। बेटी वेदिका ने कड़ी मेहनत कर यह मुकाम हासिल किया है। एक पिता को इससे ज्यादा और क्या चाहिए। उन्होंने कहा कि बेटा कुछ अच्छा करता है तो सभी को खुशी होती है, लेकिन जब बेटी कुछ ऐसा करे कि समाज में पिता का नाम रोशन हो तो इस खुशी का ठिकाना नहीं रहता है।

Show More
chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned