मैं हिंदू विरोधी नहीं, भाजपा का मुखौटा सब पहचान गए, शंकराचार्य भी उनके साथ नहीं

मैं हिंदू विरोधी नहीं, भाजपा का मुखौटा सब पहचान गए, शंकराचार्य भी उनके साथ नहीं

Praveen tamrakar | Publish: Apr, 23 2019 04:22:21 AM (IST) Rajgarh, Rajgarh, Madhya Pradesh, India

मुझे भाजपाई हिंदू विरोधी कहते हैं, लेकिन मैं हिंदू विरोधी नहीं हूं। मेरे घर में सात मंदिर बने हैं, इनमें अखंड ज्योति जल रही है और मैं खुद दिन की शुरुआत पूजा पाठ से करता हूं।

राजगढ़. मुझे भाजपाई हिंदू विरोधी कहते हैं, लेकिन मैं हिंदू विरोधी नहीं हूं। मेरे घर में सात मंदिर बने हैं, इनमें अखंड ज्योति जल रही है और मैं खुद दिन की शुरुआत पूजा पाठ से करता हूं। भाजपा का हिंदूवादी मुखौटा सब पहचान गए हैं। इसलिए अब कोई शंकराचार्य भी उनके पक्ष में नहीं है और वे भी इनकी बुराई कर रहे हैं। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने कांग्रेस प्रत्याशी मोना सुस्तानी के नामांकन फार्म भरवाने के बाद सभा को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि मैंने पैदल नर्मदा यात्रा की है। कोई भाजपाई ऐसा हो जिसने की हो तो बताएं। हां मामा ने जरूर की है, लेकिन हवा में हेलीकॉप्टर से। मैं व्रत रखता हूं, मैं पूजा करता हूं। मैं धर्मयात्रा करता हूं, लेकिन भाजपा की पोल खोलता हूं, इसलिए मुझे हिंदू विरोधी कहा जाता है। दिग्विजय ने बताया कि प्रदेश सरकार ने पेंशन बढ़ा दी। करीब ५० प्रतिशत किसानों का ऋण माफ कर दिया। जो बचे हैं आचार संहिता के बाद उनके खातों में भी पैसा आ जाएगा। हमने जो वादे किए उन्हें निभा रहे हैं। लेकिन भाजपा ने जो वादे किए थे, वह भूल गए। अब १५ लाख की कोई बात नहीं होती। रोजगार की कोई बात नहीं होती और विकास की भी कोई बात नहीं करता। अब सिर्फ धर्म और आतंकवाद को लेकर भाजपा धुर्वीकरण की राजनीति कर रही है। उन्होंने अपने भाषण के अंत में सर्वधर्म एकता का नारा लगवाया।

अघोषित या घोषित कटौती खत्म
ऊर्जा मंत्री प्रियव्रतसिंह ने मंच से कहा कि हमने जो कहा सो कर रहे हैं। उन्होंने बिजली की योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि किसानों और गरीबों का बिल आधा कर दिया है और घोषित और अघोषित बिजली बंद हो गई है। हालांकि जिस समय वे संबोधित कर रहे थे। उसी बीच करीब पांच सेंकड के लिए बिजली गुल हो गई। इसके बाद लाइट आने पर उन्होंने कहा कि लोड बढऩे पर बिलिंक हो सकती है। लेकिन सिर्फ यह एक से दो मिनट ही संभव है। जो लोग गलतियां कर रहे थे उन्हें हटा दिया गया है। उन्होंने सीहोर, उज्जैन के उदाहरण देते हुए कहा कि जो कर्मचारी गलत करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी।

मैं नहीं दिग्विजयसिंह लड़ रहे चुनाव
कांग्रेस प्रत्याशी मोना सुस्तानी ने कहा कि यह क्षेत्र दिग्विजय सिंह का है और मैं तो मात्र एक प्रत्याशी हूं। चुनाव वही लड़ रहे हैं। उन्होंने अपने से हुई कोई भूलवश गलती को लेकर क्षमा मांगते हुए सभी कांग्रेसी और आमजन से उन्हें वोट देने के लिए कहा।
टैंकर और प्रतीक्षालय के अलावा कुछ नहीं
प्रभारी मंत्री जयवर्धनसिंह ने कहा कि प्रतीक्षालय और टैंकर की सप्लाई के अलावा भाजपा प्रत्याशी नागर के पास कुछ बताने को नहीं है। लेकिन हमने कर्ज माफी की बात की। वह काम चल रहा है और जो घोषणाएं की, वह भी अधिकांश हो चुकी हैं। जो रह रही वह आचार संहिता के बाद पूरी होंगी।

झलकियां
-हेलीपेड से सीधे नामांकन जमा कराने पहुंचे दिग्विजयसिंह।
-आयोजन में नारायणसिंह आमलाबे, गुड्डू राणा, बापूसिंह तंवर, गोवर्धन दांगी, शिवनारायण मीणा, गिरीश भंडारी सहित कई नेता मौजूद थे।
-साध्वी प्रज्ञा को लेकर पूछे गए सवाल पर चुप्पी साधे रहे दिग्विजय।
-आयोजन के दौरान कई लोग पानी के लिए परेशान होते रहे।
-मंच पर भारी अव्यवस्था होने से दिग्विजयसिंह सोफे की जगह जमीन पर बैठ गए।
-आयोजन में नजर नहीं आए विधायक लक्ष्मणसिंह।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned