बोर के पानी का लिया सैंपल, वार्ड में हुई सफाई

बोर के पानी का लिया सैंपल, वार्ड में हुई सफाई

Nitin Dongre | Publish: Sep, 03 2018 04:30:27 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

वार्ड में सफाई अभियान चलाकर दवाई का छिड़काव

राजनांदगांव. छुईखदान नगर में ही डायरिया फैलने से प्रशासन की व्यवस्था की पोल खुल गई है। एक की मौत व ७० मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन मेंं हड़कंप मचा हुआ है। जिस बोर का पानी पीकर लोग बीमार हुए हैं, उस वार्ड १० के बोर के पानी का सैंपल लिया गया है। चूंकि डायरिया दूषित या गंदे पानी के सेवन से होने वाली बीमारी है। ऐसे में पानी का जांच कराया जा रहा है। बताया गया कि नगर में इस तरह का यह पहला मामला है, जब डायरिया से किसी व्यक्ति की मौत हुई हो और इतने लोग चपेट में आए हो।

ज्ञात हो कि छुईखदान वार्ड १० में डायरिया फैलने से एक की मौत हो चुकी है। ७० मरीज पीडि़त हैं, जिनका नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज जारी है। इसके लिए प्रशासन ही पूरी तरह जिम्मेदार है। इस पर नगर पंचायत, पीएचई व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। हालांकि डायरिया से हुई मौत को स्वास्थ्य विभाग छिपाने का प्रयास कर रहा है। डाक्टरों का कहना है कि मृतक के सीने में इन्फेक्शन था। इस वजह से उसकी मौत हुई है।

मामले में राजनीति भी शुरू हो गई

मामले की खबर लगते ही क्षेत्र के जनप्रतिनिधि अपनी सक्रियता दिखाने से नहीं चूक रहे हैं। शुक्रवार को क्षेत्र के विधायक गिरवर जंघेल आए व जोगी कांग्रेस के नेता देवव्रत सिंह भी अस्पताल पहुंचे थे। इसके अलावा अभाविप के पदाधिरी व कार्यकर्ता भी मरीजों का हाल जानने पहुंच गए। शनिवार को जनपद अध्यक्ष विक्रांत सिंह भी दल-बल के साथ पहुंचे। अस्पताल में मरीजों को फल वितरण किया और हाल-चाल जाने। सभी नेताओं ने पीएचई, नगर पंचायत, स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को फटकार लगाई और जल्द व्यवस्था सुधार करने की बात कही। तहसीलदार व एसडीएम से भी जवाब तलब किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी भी शनिवार को छुईखदान अस्पताल पहुंचकर मरीजों की स्थिति से अवगत हुए।

फिलहाल सभी मरीज ठीक है

डॉ. मिथलेश चौधरी, सीएमएचओ ने कहा कि छुईखदान में मरीजों की स्थिति में सुधार है। पानी का सैंपलिंग कराया गया है। रिपोर्ट आने के बाद खुलासा होगा। फिलहाल सभी मरीज ठीक हैं।

अस्पताल परिसर से बाइक गायब

राजनांदगांव. मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पार्किंग से आए दिन मोटर साइकिल चोरी होने की शिकायत सामने आ रही है। लगातार शिकायत के बाद भी पुलिस आरोपियों की तलाश नहीं कर पा रही है। इधर अस्पताल प्रबंधन भी पार्किंग की ठेका लेने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। पिछले दिनों मोटर साइकिल की चोरी के बाद स्टैंड में सीसीटीवी कैमरा लगाने की मांग भी की गई। इसके बाद भी अस्पताल प्रबंधन ने गंभीरता नहीं दिखाई।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned