विश्व में 40 लाख एड्स पीडि़त, एड्स के फैलने के कारण व बचाव के कारणों पर हुई चर्चा

रानी रश्मि देवी सिहं शासकीय महाविद्यालय में मना एड्स दिवस

By: Nakul Sinha

Published: 03 Dec 2019, 11:37 AM IST

राजनांदगांव / खैरागढ़. रानी रश्मि देवी सिहं शासकीय महाविद्यालय रेडक्रास योजना द्वारा प्राचार्य डॉ. जेएन केशरवानी के मार्गदर्शन एवं डीके बेलेंद्र की अध्यक्षता में विश्व एड्स दिवस पर व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम का संचालन करते हुए रेडक्रास प्रभारी जेके वैष्णव ने एचआईवी/एड्स की जानकारी देते हुए भारत में 1986 में मद्रास में ज्ञात होने की जानकारी दी। आज विश्व में लगभग चालीस लाख की करीब एड्स पीडि़त होने की बात कही। जिसमें एड्स पीडि़त व्यक्तियों की संख्या में वृद्धि पर चिंतित होने के साथ इसके रोकथाम हेतु जागरूकता एवं सुरक्षा पर बल दिया।

एड्स से युवा पीढ़ी को किया जागरूक
जीवन शैली में संयम ईमानदारी एवं उच्च नैतिकता के साथ जीने के लिए आज के युवा पीढ़ी को जागरूक किया। जितेन्द्र साखरे ने एड्स की रोकथाम के लिए जागरूकता को ही उचित बताया साथ ही इसके रोकथाम की जानकारी को जन-जन तक पहुंचाने की बात कही। प्रो.डीके बेलेंद्र ने वर्तमान परिवेश में नये-नये किस्म के एड्स स्वाईन फ्लू जैसे संक्रामक बीमारियां फैल रही है इनसे बचाव एवं नियंत्रण के लिये छात्रों को जागरूक होना आवश्यक बताया।

जागरूकता पॉमप्लेट एवं पर्चियां छात्र-छात्राओं को किया वितरण
सिविल अस्पताल खैरागढ़ के एस कुमार साहू ने एड्स होने के कारण एवं इसके बचाव पर विस्तृत जानकारी देते रोकथाम सुरक्षा एवं जागरूकता के पॉमप्लेट एवं पर्चियां छात्र-छात्राओं के बीच वितरण किया। व्याख्यान में छात्र-छात्राओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों का समुचित जवाब दे कर उन्हें संतुष्ट किया। इस अवसर पर सिविल अस्पताल खैरागढ़ के तोरण साहू, अतिथि व्याख्याता उमेंद चंदेल, सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned