भाजपा के गढ़ में लहराया कांग्रेस का परचम, हेमा देशमुख बनी महापौर

निकाय चुनाव में हेमा देशमुख ने 51 में से 31 वोट हासिल किए, जबकि भाजपा की शोभा सोनी सिर्फ 20 वोट हासिल कर पाई ।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 03 Jan 2020, 10:25 PM IST

राजनांदगाव @ आखिरकार कांग्रेस ने भाजपा से राजनांदगांव निगम छिन लिया है। कांग्रेस की हेमा देशमुख राजनांदगांव की नई महापौर बन गई है। शुक्रवार महापौर पद के लिए हुए चुनाव में हेमा देशमुख ने 51 में से 31 वोट हासिल किए, जबकि भाजपा की शोभा सोनी सिर्फ 20 वोट हासिल कर पाई। हैरान करने की बात तो ये है कि भाजपा के 21 पार्षद थे, लेकिन भाजपा के पार्षद वोट में कांग्रेस ने एक सेंध लगा ली।

भाजपा के पार्षद ने क्रांस वोटिंग की है। कांग्रेस की ओर से प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने चुनाव की पूरी कमान संभाल रखी थी। कांग्रेस के पार्षद के साथ-साथ वो निर्दलीय पार्षदों के साथ भी सतत संपर्क में भी थे, लिहाजा नतीज कांग्रेस की जीत के रूप सामने आई।

51 सदस्यीय कुल पार्षदों की संख्या वाले निगम में कांग्रेस के 28 पार्षद जीतकर आये थे, बाद में तीन और पार्षदों ने भी कांग्रेस को समर्थन दे दिया। ना सिर्फ निर्दलीय पार्षदों ने सपोर्ट किया, बल्कि भाजपा के भी एक पार्षद ने क्रास वोटिंग करते हुए कांग्रेस को सपोर्ट कर दिया।

Click & Read More Chhattisgarh News.

ITBP जवान तीन साल से प्रेमिका के साथ बना रहा था सम्बन्ध, युवती लगाया रेप का आरोप

सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत, बारिश में धान नहीं बेच पाने वालों को फिर से जारी होगा टोकन

भारतीय स्टेट बैंक में 8000 पदों पर निकली भर्ती, इस तारीख तक कर सकते है आवेदन

छत्तीसगढ़ युवा महोत्सव: 12 जनवरी से होगा शुरू, दिखेगी ग्रामीणों की प्रतिभाओं की झलक

चार तेंदुए की खाल तस्कर कर रहे 7 आरोपियों को वन विभाग ने दबोचा, देखें फोटो

केंद्र सरकार से छत्तीसगढ़ पुलिस के तीन अधिकारी सम्मानित, मिला “Extraordinary Intelligence Skill Medal”

भूपेश कैबिनेट की बैठक खत्म - धान खरीदी को लेकर किया ये बड़ा फैसला, देखें Video

सनकी आशिक के एक तरफा प्यार को नाबालिग ने ठुकराया तो तलवार लेकर पंहुचा उसके घर, बाप के सामने जबरदस्ती की शर्मनाक हरकत

BJP Congress
Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned