देश सेवा की उम्मीद लेकर आए युवाओं के साथ बड़ा छल, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

भर्ती में आए युवकों ने शिकायत की है कि वांछित कद होने के बाद भी उनको आगे की चयन प्रक्रिया में शामिल न करते हुए बाहर कर दिया गया।

By: Dakshi Sahu

Published: 13 Mar 2018, 11:49 AM IST

राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ के युवाओं के लिए यहां आयोजित थल सेना भर्ती रैली में तय मापदंड होने के बाद भी युवाओं को जबरन बाहर का रास्ता दिखा देने और शिकायत करने पर धमकाने और दुव्र्यव्हार करने का आरोप लगा है। भर्ती में आए युवकों ने शिकायत की है कि वांछित कद होने के बाद भी उनको आगे की चयन प्रक्रिया में शामिल न करते हुए बाहर कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि राजनांदगांव में १० से लेकर १७ मार्च तक थल सेना भर्ती रैली का आयोजन हो रहा है। सेना के अफसर भर्ती को संचालित कर रहे हैं। आठवीं बटालियन के मैदान में प्रक्रिया चल रही है। हर दिन राज्य के अलग अलग जिलों के युवाओं को बुलाया गया है। हर दिन तकरीबन चार से साढ़े चार हजार युवाओं का परीक्षण किया जा रहा है।

भर्ती में आए कुछ युवाओं ने बताया कि सुबह के वक्त सबसे पहले ऊंचाई (कद) की नाप की जाती है। सैनिक ट्रेडमैन के लिए वांछित कद १६८ सेंटीमीटर है लेकिन इससे ज्यादा कद होने के बाद भी इसी प्रक्रिया में एक झटके में पांच सौ से ज्यादा लोगों को बाहर कर रास्ता दिखा दिया जा रहा है। इसका विरोध करने पर दुव्र्यव्हार किया जा रहा है और लाठी डंडे का रौब दिखाया जा रहा है।
पहरे में हो रही भर्ती
सेना भर्ती के लिए बटालियन मैदान में कड़ा पहरा लगा दिया गया है। पूरी भर्ती बेहद गोपनीय तरीके से हो रही है। भर्ती रैली के दौरान मीडिया को भी तमाम तरह की जांच के बाद सिर्फ एक घंटे दिन के ११ से लेेकर १२ बजे तक प्रवेश की इजाजत दी गई है जबकि इससे पहले दिग्विजय स्टेडियम में हुई भर्ती प्रक्रिया में मीडिया को बैन नहीं किया गया था।

कोरिया जिले से सेना में भर्ती की उम्मीद लेकर आए १२ वीं पास माइनिंग में डिप्लोमाधारी पूर्णानंद शुक्ला ने पत्रिका को बताया कि उसकी उम्र २२ वर्ष है इसलिए उसने ट्रेडमेन पद के लिए आवेदन भरा था। उसने बताया कि उसका कद १७० सेंटीमीटर है और ट्रेडमैन के लिए १६८ सेंटीमीटर चाहिए था लेकिन नाप के बाद उसे भगा दिया गया। निवेदन करने पर उसकी एक नहीं सुनी गई। पूर्णानंद ने कहा कि वह इतनी दूर से साल भर मेहनत करने के बाद यहां आया है लेकिन उसके साथ इस तरह बर्ताव कर भगा दिया गया।

ट्रेडमैन पद के लिए कोरिया जिले से आए अनुसूचित जाति वर्ग के अमर कुमार जांगड़े ने आवेदन दिया था। उसका कद १६९ सेंटीमीटर है। अजा वर्ग की छूट के बाद उसके लिए वांछित कद १६२ सेंटीमीटर होता है लेकिन उसे भी लौटा दिया गया। अमर कुमार ने बताया कि विरोध करने पर उसे धमकी दी गई कि चुपचाप चले जाओ वरना लाठी चार्ज कर देंगे। अमर ने कहा कि उसने भी सेना में जाने के लिए खूब मेहनत की थी लेकिन अब उसे निराशा हाथ लगी है।

राजनांदगांव. सेना भर्ती रैली में बलरामपुर, कबीरधाम, कोरबा , कोरिया, मुंगेली, सुरजपुर और सरगुजा जिले के प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया। रैली के लिए 1967 लोगों ने रिपोर्टिंग दी, इसमें 1.6 किमी की दौड़ में 399 लोग सफल हुए। भर्ती के लिए निर्देशित किया गया है कि अच्छी फोटोग्राफ के साथ जारी किया गया लैटर भी लाएं। कलेक्टर राजनांदगांव भीम ङ्क्षसह ने कहा कि वे शिकायतों की जांच करगें। इस मामले में सेना के अधिकारियों से बातचीत करने का आश्वासन दिया।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned