आपदा के वक्त मदद के लिए आगे आ रहे हैं लोग, दान कर रहे राशि ...

अफसरों सहित नागरिक भी कर रहे सहयोग

By: Nitin Dongre

Published: 03 Apr 2020, 03:43 PM IST

राजनांदगांव. कलक्टर जयप्रकाश मौर्य ने जिला आपदा प्रबंधन कोष में एक लाख रूपए की सहायता राशि जमा की है। उन्होंने जिला पंचायत सीईओ, सभी जिला स्तरीय अधिकारियों, एसडीएम को एक माह का वेतन देने का आग्रह किया है। यदि एक माह का वेतन देना संभव देना नहीं है, तो आधे माह का वेतन दे सकते है। जिला एवं विकासखंड के प्रमुख अपने अधीनस्थ स्टाफ से उनकी इच्छानुसार सहयोग राशि ले सकते हैं। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों/दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को इसके लिए छूट प्राप्त होगी। प्रतिदिन के दान रिपोर्ट के लिए जिला पंचायत सीईओ तनुजा सलाम को नोडल अधिकारी रहेंगी।

अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से होगी कटौती

नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं आपदाग्रस्त लोगों की सहायता के लिए स्टेट पावर कंपनीज के अधिकारी- कर्मचारियों द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन के मूल वेतन के बराबर की राशि का आर्थिक सहयोग प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। उक्त जानकारी पावर कंपनी के अतिरिक्त महाप्रबंधक जनसंपर्क विजय मिश्रा ने दी। आगे उन्होंने बताया कि कंपनी के सभी अधिकारी-कर्मचारियों के माह अप्रैल 2020 के वेतन से एक दिन के मूल वेतन के बराबर की राशि की कटौती की जाएगी। यह राशि करीब तीन करोड़ होगी।

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, हितग्राहियों को दिया जाएगा सूखा राशन

महिला एवं बाल विकास विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अंतर्गत चिन्हांकित हितग्राहियों को सूखा राशन (चावल, गेहूं, दाल ), स्थानीय रूचि एवं उपलब्धता के अनुसार अन्य पौष्टिक आहार का पैकेट बनाकर प्रदान करने के निर्देश दिए गए है। आदेश में कहा गया है कि लॉकडाउन के चलते मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत हितग्राहियों को प्रदान किए जाने वाले गर्म भोजन की व्यवस्था बंद हो गई है। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत लाभान्वित हितग्राहियों के स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर पर विपरित प्रभाव न पड़े जिसके लिए सूखा राशन (चावल, गेहूं, दाल ), स्थानीय रूचि एवं उपलब्धता के अनुसार अन्य पौष्टिक आहार का पैकेट बनाकर उपलब्ध कराने कहा गया है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned