रिपीट सैम्पल का परिणाम आने के बाद ही होगी मरीज की छुट्टी

-कोरोना की जांच का दायरा बढ़ा
-तीन दिन तक अस्पताल में भर्ती रखा जाएगा पीडि़त

By: Aswani

Published: 28 Mar 2020, 07:35 PM IST

राजसमंद. प्रदेश में कोरोना के कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां पर पहला सैम्पल निगेटिव और रिपीट सैम्पल पॉजिटव आया है। इसको ध्यान में रखते हुए जिले में भी जांच का दायरा बढ़ाया गया है तथा संदिग्ध का पहला सैम्पल निगेटिव आने पर भी उसे तबतक अस्पताल के आईसुलेशन वार्ड से छुट्टी नहीं दी जाएगी जबतक उसका रिपीट सैम्पल निगेटिव नहीं आ जाता। शनिवार को इसकी चिकित्सा विभाग ने प्रक्रिया भी शुरू कर दी और पहले ही दिन ११ रिपीट सैम्पल भेजे गए हैं। गौरतलब है कि केवल शनिवार को नाथद्वारा और आरके जिला चिकित्सालय से ही २८ सैम्पल भेजे गए हैं।


तीन दिन में रिपीट होगा सैम्पल
सीएमएचओ डॉ. जेपी बुनकर ने बताया कि देखने में आ रहा है कि कोरोना वायरस का प्रभाव बाद में नजर आता है, ऐसे में कईबार पहला सैम्पल निगेटिव आ जाता है तथा दूसरे सैम्पल में बीमारी पकड़ में आती है। इसलिए अब संदिग्ध व्यक्ति का पहला सैम्पल निगेटिव आने पर उसे छुट्टी नहीं दी जाएगी, बल्कि तीन दिन तक उसे अस्पताल के आईसुलेशन वार्ड में भी भर्ती रखा जाएगा। इन तीन दिनों में ही उसके दो सैम्पल लिए जाएंगे जब दूसरा सैम्पल निगेटिव होगा तभी उसे छुट्टी दी जाएगी।


एक दिन में २६ सैम्पल भेजे
राजसमंद जिले में शनिवार को एक ही दिन में २८ जनों के सैम्पल जांच के लिए उदयपुर भेजे गए हैं। इसमें राजसमंद के आरके जिला चिकित्सालय से १९ सैम्पल भेजे गए, जिसमें ८ रिपीट सैम्पल हैं। वहीं नाथद्वारा अस्पताल से ७ सैम्पल भेजे गए हैं जिसमें ३ रिपीट है। इससे पूर्व शुक्रवार को जिला अस्पताल से भेजे गए ७ सैम्पलों की रिपोर्ट शनिवार को आई और सभी निगेटिव पाए गए। अबतक राजसमंद और नाथद्वारा अस्पताल से ५४ सैम्पल भेजे जा चुके हैं, जिसमें २८ की रिपोर्ट आनी बाकी है व २६ सैम्पल निगेटिव हैं।

Aswani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned