महापंचायत से तीन सीटों पर बजेगी रणभेरी!

27 को मातृकुण्डिया में किसान सम्मेलन : तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे प्रभारी मंत्री आंजना

By: jitendra paliwal

Published: 23 Feb 2021, 12:00 PM IST

राजसमंद. राज्य की गहलोत सरकार का ढाई साल से ज्यादा वक्त बाकी है। पायलट की बगावत से बार-बार सियासी संकट के बीच चार सीटों पर उपुचनाव भी है। बहुमत का आंकड़ा मजबूत करने के लिहाज से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए ये चुनाव बेहद खास माने जा रहे हैं। मातृकुण्डिया में 27 फरवरी को किसान महापंचायत के जरिए कांग्रेस चुनावी बिगुल भी बजाने जा रही है। राजसमंद, वल्लभनगर (उदयपुर) और सहाड़ा (भीलवाड़ा) सीट पर कांग्रेस सरकार पहले ही अरबों रुपए की घोषणाओं की झड़ी लगा चुकी है। अब महापंचायत के माध्यम से भाजपा को घेरने की तैयारी की जा रही है। सहाड़ा और वल्लभनगर सीट पहले से कांग्रेस के पास थी, लेकिन इस उपचुनाव में दोनों सीटें बचाने के साथ ही किरण माहेश्वरी के निधन से खाली हुई सीट को 12 साल बाद भाजपा से कब्जाने का मौका भी नहीं छोडऩा चाहती है। इस लिहाज से महापंचायत को बेहद महत्वपूर्ण घटनाक्रम माना जा रहा है। यह भी कयास हैं कि इस महापंचायत के दौरान प्रदेश के तीनों प्रमुख नेताओं की तीनों सीटों पर कांग्रेस के प्रबल दावेदारों के नामों पर स्थानीय नेताओं से चर्चा भी हो सकती है।

भीड़ जुटाने में जुटे तीन जिलों के कांग्रेस नेता
रेलमगरा. उप चुनावों के प्रचार का आगाज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चित्तौडग़ढ़ एवं राजसमन्द जिले की सीमा पर स्थित तीर्थस्थली मातृकुण्डिया से करेंगे। इसकी तैयारियों का जायजा लेने सोमवार को प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना मातृकुंडिया पहुंचे। इस कार्यक्रम को पार्टी का शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है। भीलवाड़ा, चित्तौडग़ढ़ एवं राजसमन्द जिलों की सीमाओं पर स्थित इस तीर्थस्थली पर कांग्रेस के इस आयोजन से चुनावी सरगर्मियों का रफ्तार पकडऩा तय है। तीनों जिलों में जाट किसान बाहुल्य होने से इसे किसान सम्मेलन नाम दिया गया है। उप चुनाव के क्षेत्र राजसमन्द एवं सहाड़ा की सीमाएं यहां से सीधी जुड़ी हुई हैं एवं तीसरी सीट उदयपुर जिले की वल्लभनगर भी अधिक दूरी पर नहीं है। इससे यह तो स्पष्ट है कि कांग्रेस मेवाड़ में तीनों सीटों के केन्द्र में स्थित तीर्थ से उप चुनावों का बिगुल बजा रही है। किसान सम्मेलन के साथ कृषि कानूनों पर केन्द्र सरकार को घेरने की तैयारियां भी की जा रही है। कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिए हो रही तैयारियों का जायजा लेने राजसमंद जिले के प्रभारी मंत्री आंजना, पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत, राजसमन्द से जिला कांग्रेस अध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर सहित आला नेता मातृकुण्डिया पहुंचे। इन्होंने पाण्डाल निर्माण के साथ मंच, पार्किंग आदि व्यवस्थाओं की तैयारियों का जायजा लिया। इससे पूर्व रविवार को चित्तौडग़ढ़ कलक्टर सहित अन्य अधिकारियों ने भी मातृकुण्डिया पहुंचकर कार्यक्रमस्थल का निरीक्षण किया। दूसरी ओर पार्टी के नेताओं ने तीनों विधानसभा क्षेत्र के ब्लॉक स्तर के जनप्रतिनिधियों से संपर्क कर भीड़ जुटाने के लिए प्रचार शुरू कर दिया है।

कांग्रेस की बैठक में तैयारियों पर चर्चा
राजसमंद. इधर, महापंचायत को लेकर भीड़ जुटाने की रणनीति बनानी शुरू कर दी है। इस सिलसिले में सोमवार को जिला कांग्रेस की बैठक यहां एक रिजॉर्ट में हुई। जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, पीसीसी सदस्य हरि सिंह राठौड़, वीरेंद्र वैष्णव, पूर्व जिलाध्यक्ष नारायण सिंह भाटी की मौजूदगी में हुई चर्चा में बताया गया कि महापंचायत को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कई वरिष्ठ नेता, विधायक, मंत्री एवं नेता संबोधित करेंगे। गुर्जर ने कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार किसानों पर अत्याचार कर रही है, उसके विरोध में महापंचायत के जरिए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की जाएगी। राठौड़, वैष्णव व भाटी ने भी विचार रखे। बैठक में ब्लॉक अध्यक्ष शांतिलाल कोठारी, सुंदरलाल कुमावत, सभापति अशोक टांक, प्रधान आदित्य प्रताप सिंह, जिला महासचिव भगवत सिंह, किशनलाल गाडरी, कुलदीप शर्मा आदि मौजूद थे।

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned