script 58 साल पहले बना पहला कोर्ट, अब देवगढ़ बना बास्केटबॉल खिलाडिय़ों की फैक्ट्री, राज्य स्तरीय टीम में यहां के युवाओं का रहता है दबदबा | Patrika latest news Rajsamand, Basketball Rajasthan | Patrika News

58 साल पहले बना पहला कोर्ट, अब देवगढ़ बना बास्केटबॉल खिलाडिय़ों की फैक्ट्री, राज्य स्तरीय टीम में यहां के युवाओं का रहता है दबदबा

locationराजसमंदPublished: Jan 20, 2024 09:30:04 pm

Submitted by:

jitendra paliwal

Basketball Rajasthan एक ही कस्बे में हैं बास्केटबॉल के छह बेहतरीन कोर्ट, खेल के दम पर कई खिलाडिय़ों को मिली सरकारी नौकरियां

devgarh.jpg
सरफराज अहमद शेख@ देवगढ़ नगर की पहचान की यूं तो कई वजहें हैं, मगर पिछले कुछ वर्षों से बास्केटबॉल ने खूब नाम ऊंचा किया है। राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर यहां के खिलाडिय़ों का दबदबा बनता जा रहा है।
कस्बे में बास्केटबॉल का खेल मैदान वर्ष में 1965 में कोलतार से बना था, तबके बास्केटबॉल खिलाडिय़ों ने जिला स्तर (उदयपुर) पर प्रथम स्थान प्राप्त किया था। मधुकान्त जोशी, सम्पतसिंह, धर्मेश सेन, भगवतसिंह चौहान, मुकुटलाल जोशी जब मैदान में उतरते थे, तो विरोधी टीमों के पसीने छूट जाते थे।
खेल की मदद से डीआईजी पद तक पहुंचे
मौजूदा दौर में खिलाड़ी चन्द्रप्रकाश त्रिवेदी ने इस खेल को नई पहचान दी। उनके खेल कौशल का दम देख आयकर विभाग ने अपनी टीम में उन्हें आमंत्रित किया। त्रिवेदी ने राजस्थान को पदक दिलवाए। उन्हें भारतीय टीम का सदस्य चुना गया। भारत का प्रतिनिधित्व किया। त्रिवेदी बीएसएफ में डीआईजी के पद से सेवानिवृत्त हुए और वर्तमान में देवगढ़ के खिलाडिय़ों को अपना अनुभव बाट रहें है।
... फिर तो लग गई कतार
त्रिवेदी की सफलता के बाद नगर में बास्केटबॉल खिलाडिय़ों की बाढ़ सी आ गई है। रघुनन्दन जोशी, मुरलीधर दाधीच, राजेन्द्रप्रसाद जोशी, प्रहलादसिंह कच्छावा, कीर्तिपालसिंह, गिरधर गोपाल जोशी, दरियावसिंह, चन्दमल वीरवाल, दीनदयाल त्रिवेदी हितेन्द्रसिंह खिंची जैसे खिलाडिय़ों ने गौरवान्वित किया। मुरलीधर और दीनदयाल त्रिवेदी ने कई बार राष्ट्रीय स्तर पर राज्य टीम का नेतृत्व किया। चन्दनमल ने ऑल इन्डिया यूनिर्वसिटी कॉम्पिटिशन में अपना खेल दिखाया। दीनदयाल त्रिवेदी ने नेताजी सुभाष चन्द्र राष्ट्रीय खेल संस्थान, पटीयाला से बास्केटबॉल में कोचिंग डिप्लोमा किया। उनके द्वारा तैयार खिलाड़ी अब राष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे हैं। दीनदयाल त्रिवेदी राज्य सरकार की ओर से संचालित तीन खेल केन्द्रों में से एक देवगढ़ के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कोच हैं। 15 छात्र खिलाड़ी सुबह-शाम प्रशिक्षण लेते हैं।
160 खिलाडिय़ों को धार दे रहे 13 प्रशिक्षक
त्रिवेदी ने दो शानदार सिन्थैटिक कोर्ट बनवाए, जहां नगर के करीब 160 पुरुष व महिला खिलाड़ी दोनों समय नि:शुल्क अभ्यास करते हैं। कोच देवेन्द्रसिंह, मनोज कुमार, गिरिराजसिंह, चैनसिंह, हेमसिंह राजपूत, मधुसूदन टीकमसिंह, आरीफ मोहम्मद लोदी, चन्द्रवीरसिंह, गौतम वैष्णव, हेमलता लौहार, ललिता दक, गगन त्रिवेदी उनके हुनर को निखार रहे हैं। इस खेल ने महेन्द्रसिंह, जगदीश सालवी, राजकुमार, दयासागर, शशिकांत जोशी, सत्यपालसिंह, कमल, हितेन्द्रसिंह, कमलेन्द्रसिंह सहित कई खिलाडिय़ों को राजकीय सेवा और सेना तक पहुंचाया। खेल कोटे से हाल ही में ममता योगी का चयन राजस्थान पुलिस में हुआ।
त्रिवेदी ने दिलाया राजस्थान को गोल्ड
- गोवा में गत वर्ष 2023 में 3 गुणा 3 नेशनल खेल में आशीष त्रिवेदी ने राज्य का नेतृत्व कर राजस्थान को गोल्ड मेडल दिलवाया, उनके नाम और भी कई पदक हैं।
- पवन, लेखराज, आदित्य, शिवम, धीरज, चनद्रवीर, पंकज, सक्षम सहित कई खिलाडिय़ों ने विश्वविद्यालयीय प्रतियोगिताओं में दम दिखाया।
- प्रियांशी जोशी कई बार नेशनल स्तर पर राज्य का प्रतिनिधित्व कर राज्य को मेडल दिलवाया।
- छोटूलाल, पवन मेवाड़ा, संजय टेलर, गोविन्द माली, ऋतु जोशी, पप्पू पालीवाल व अन्य कई खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर लगातार खेले।
- इन्हें स्व. द्वीजेन्द्र कुमार जोशी ने उच्च माध्यमिक विद्यालय में बतौर शारीरिक शिक्षक रहते तराशा।
देवगढ़ में छह बास्केटबॉल मैदान
नगर में बास्केटबॉल का कितना क्रेज है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां कुल छह मैदान सिर्फ इसी खेल के लिए हैं। महाराणा प्रताप बास्केटबॉल स्टेडियम पर दूधिया रोशनी में रोजाना कोच नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है।
देवगढ़ बास्केटबॉल टीम की उपलब्धियां
- राज्य स्तर पर 2013 में सब जूनियर, अजमेर में टीम ने गोल्ड जीता।
- राज्य स्तर पर 2014 यूथ अलवर में सिल्वर मेडल।
- राज्य स्तर पर 2014 सब जूनियर, भीलवाड़ा में सिल्वर मेडल।
- राज्य स्तर पर 2015 में सब जूनियर, सवाईमाधोपुर में सिल्वर मेडल।
- राज्य स्तर पर 2016 में जूनियर, जोधपुर में सिल्वर मेडल।
- राज्य स्तर पर 2017 में जूनियर, डीडवाणा (नागौर) में सिल्वर मेडल।
- राजीव गांधी शहरी ओलम्पिक, जोधपुर में सिल्वर मेडल।

ट्रेंडिंग वीडियो