EXCLUSIVE : व्यापारी असमंजस में, प्रशासन मौन और श्रीनाथजी मंदिर मार्ग हो गया चौड़ा : अब व्यापारियों व विधायक ने उठाए सवाल

laxman singh

Publish: Sep, 17 2017 03:35:47 PM (IST)

Rajsamand, Rajasthan, India
EXCLUSIVE : व्यापारी असमंजस में, प्रशासन मौन और श्रीनाथजी मंदिर मार्ग हो गया चौड़ा : अब व्यापारियों व विधायक ने उठाए सवाल

नाथद्वारा में मंदिर मार्ग चौड़ा करने का मामला

गिरिराज सोनी @ पत्रिका 
नाथद्वारा. शहर में मंदिर के पास के मार्ग को चौड़ा करने को लेकर हाईकोर्ट में चल रहे मामले में गत बुधवार को सुनवाई हुई थी। इसमें व्यापारियों के प्रतिनिधियों द्वारा रखे गए पक्ष के संबंध में वापस यहां आकर बताया गया, जिसके बाद व्यापारियों ने मंदिर के आसपास के क्षेत्र को चौड़ा करने के लिए दुकानों के बाहर बनी चबूतरियां एवं धूप बारिश से बचाव के लिए लगा रखे टाटे आदि को हटवा दिए। खास बात यह है कि इस कार्रवाई में नगर पालिका की जेसीबी लगी थी, जबकि पालिका को इस तरह की कार्रवाई के कोई आदेश ही नहीं थे। आश्चर्य की बात तो यह है कि इस संबंध में पालिका के अधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों तक को भी पता नहीं है कि जेसीबी किसके आदेश से लगी।
हाईकोर्ट में मामला विचाराधीन होने से व्यापारियों को 18 सितंबर को फिर से होने वाली सुनवाई में टाटे-बूतरियां आदि हटा दिए जाने से कोर्ट के रूख में नरमी आने की उम्मीद है। इसके चलते ही आनन-फानन में दुकानों के बाहर से कुछ व्यापारियों के समर्थन से सभी दुकानों के बाहर लगाए गए टाटे-चबूतरियां हटा दी गई। इस कार्रवाई का समर्थन नहीं करने वाले व्यापारी भी असमंजस की स्थिति के चलते चुप ही रहे, लेकिन अगर अगली सुनवाई में कोर्ट का रूख नरम नहीं हुआ तो व्यापारियों को दोहरा नुकसान होना तय है। यह कार्रवाई शहर के देहली बाजार, गांधी रोड, माणक चौक, चौपाटी, मंदिर मार्ग, नया बाजार आदि क्षेत्र में की गई। ऐसे में शुक्रवार शाम को पहले ही दिन जब बारिश आ गई तो इस दौरान कई दुकानदारों को खासी परेशानी का सामना भी करना पड़ा और वे अपने सामान को बारिश से बचाने का प्रयास करते दिखाई दिए।


आगे की योजना पर असमंजस
इधर, इस मामले को लेकर विधायक कल्याणसिंह चौहान ने बताया कि उनको कुछ व्यापारियों के फोन आए कि हमारा क्या होगा, क्या योजना है। इस पर उन्होंने व्यापारियों को बताया कि मंदिर मंडल एवं सरकार के द्वारा बाजारों को चौड़ा करने के लिए अभी कोई प्लान जारी नहीं हुआ है, जिसके बावजूद दुकानदारों के यहां से टाटे एवं चबूतरियां हटाने को लेकर तोडफ़ोड़ क्यों की जा रही है। उन्होंने बताया कि मामले को लेकर जिला कलक्टर से भी बात की। उन्होंने बताया कि उन्हें कलक्टर व उपखंड अधिकारी दोनों ने ही बाजार से टाटों आदि को हटाने के लिए किसी प्रकार का आदेश नहीं दिए जाने के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि व्यापारी जोधपुर गए व खुद ही आश्वस्त कर आए और हटा रहे हैं, जबकि प्रशासन ने ऐसे आदेशों से स्पष्ट इंकार कर दिया है। इस मामले में विधायक ने पालिकाध्यक्ष आदि से भी बात की तथा बिना किसी के आदेश के जेसीबी भेजने को लेकर नाराजगी जाहिर की।


बाजारों की नपती के लिए बनाई कमेटी
सूत्रों के अनुसार जिला कलक्टर के निर्देश पर उपखंड अधिकारी निशा के द्वारा मंदिर के बाजारों में स्थित दुकानों, रोड आदि को नापने के लिए एक कमेटी का गठन किया है। इसमें मंदिर मंडल के अधिशासी अभियंता, सार्वजनिक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता एवं नगर पालिका के कनिष्ठ अभियंता को सदस्य बनाया है। इस टीम ने शुक्रवार से ही नपती का काम भी शुरू कर दिया।


तो क्या व्यापारियों को नहीं मिलेगी राहत
मामले को लेकर कुछ व्यापारियों ने कहा कि इतना करने के बाद भी दुकानों को बचाए जाने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है कि राहत मिलेगी या नहीं। ऐसे में कईयों ने तो अपनी समस्या भी बताई कि उनके यहां ग्राहक को आने में असुविधा होने लगी है।


गोविंद चौक में नाले पर हुआ गड्ढ़ा
चबूतरियों को तोडऩे के दौरान कांग्रेस कार्यालय के नीचे स्थित दुकानों के पास पालिका की जेसीबी के द्वारा चबूतरियां तोड़े जाने के दौरान एक रेस्टोरेंट के बाहर गड्ढ़ा हो गया, जिससे उसे दुकान खोलने में भी असुविधा हो रही है। उधर, कई व्यापारियों ने बताया कि हमारे सामने जो दुविधा की स्थिति बनी है, उसमें कहीं ये सामने नहीं आए कि मेरे द्वारा इस प्रकार असहयोग कर दुकानों से टाटे एवं चबूतरियां नहीं हटाई, ऐसे में हमने भी सबके साथ रहते हुए चबूतरियां आदि हटा दी। वहीं, कुछ व्यापारियों ने तो सीधा ये ही कह दिया कि अन्य बाजार तो मंदिर मार्ग के बनिस्पत पहले से ही ज्यादा चौड़े थे एवं अब और चौड़े हो गए हैं।

Shrinathji, Nathdwara, nathdwara news, rajsamand latest hindi news rajsamand, Latest hindi news rajsamand, Shrinathji Temple Nathdwara

मैं व्यापारियों के साथ
हां जिला कलक्टर, उपखंड अधिकारी से बात की तो उन्होंने कोई योजना नहीं होने की बात बताई। इसको लेकर पालिकाध्यक्ष को भी कहा कि जब पूरा प्लान नहीं है तो जेसीबी आदि का उपयोग लेकर यह क्यों किया। मैं सदैव व्यापारियों के साथ हूं और उनकी समस्या का समाधान करवाऊंगा। मैं अस्वस्थ हूं इसलिये जा नहीं पा रहा हूं ।
कल्याणसिंह चौहान, विधायक, नाथद्वारा


नहीं दिया कोई आदेश
हमारे द्वारा कोई आदेश नहीं दिया गया है। नापा इसलिए लिया जा रहा है कि सरकार की जमीन कितनी है, पता लग सके।
पीसी बेरवाल, कलक्टर, राजसमंद


व्यापारियों ने स्व विवेक से हटाए
टाटे-चबूतरियां हटाने का हमारे द्वारा कोई आदेश नहीं दिया गया, व्यापारियों के द्वारा ही स्व विवेक से हटाया गया है। बाजारों में नाप करने की बात है तो कलक्टर के द्वारा आदेश दिया गया है।
निशा, उपखंड अधिकारी, नाथद्वारा


व्यापारियों ने मांगा था सहयोग
आदेश नहीं है, हमसे व्यापारियों ने सहयोग मांगा था, जिस पर जेसीबी आदि लगा दिए। स्वविवेक से हटाया है।
लालजी मीणा, पालिकाध्यक्ष


आदेश नहीं दिया...
मैनें कोई आदेश नहीं दिया, परंतु न्यायालय में व्यापारियों के द्वारा बताया गया, जिसके बाद न्यायाधीश के द्वारा मौखिक कहा कि व्यापारी स्व विवेक से इस पर अमल करें और उसके बाद 18 को सुनवाई की तारीख भी मुकर्रर की।
राजेन्द्र भारद्वाज, कार्यवाहक पालिका आयुक्त व तहसीलदार, नाथद्वारा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned