चक्रधरपुर सभा में बोले शाह- ''घुसपैठियों को बाहर निकालने के बाद ही मांगेगे 2024 में वोट''

भाजपा अध्यक्ष (Amit Shah In Jharkhand) ने राम मंदिर मुद्दे (Amit Shah On Ram Mandir) पर भी कांग्रेस को घेरा, राहुल गांधी (Amit Shah Speech) पर हमला (Jharkhand Election) बोलते हुए उन्होंने (Amit Shah Chakradharpur Rally) कहा कि...

(रांची): भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि 2024 के चुनाव में वोट लेने के पहले पूरे देश में एनआरसी के माध्यम से घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर निकालने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियां कहती है कि राष्ट्रीय मुद्दे से झारखंड के लोगों का कुछ लेना-देना नहीं है, लेकिन राज्य की जनता भी यह चाहती है कि कश्मीर अखंड भारत का हिस्सा रहे, देश से आतंकवाद और नक्सलवाद समाप्त हो, अयोध्या में भव्य राम मंदिर बने। अमित शाह सोमवार को चक्रधरपुर में पार्टी प्रत्याशी सह प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

 

यह भी पढ़ें: छोटे से शक के चलते पत्नी को मारा, जो भी बचाने आया उसकी भी ले ली जान

 

उन्होंने कहा कि केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के साथ ही धारा 370 को मूल समेत समाप्त कर दिया गया और पुलवामा और उरी अटैक के बाद सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के माध्यम से आतंकवादियों को करारा जवाब दिया गया। उन्होंने इससे पहले देश में दस वर्षों तक मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी का शासन था, प्रतिदिन आतंकियों के घुसपैठ की खबर मिलती थी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में सेना को जवाबी कार्रवाई की पूरी छूट दी गई और वीर जवानों ने पाकिस्तान से बदला लेने का काम किया।

 

यह भी पढ़ें: झारखंड चुनाव: पत्नी के सामने खड़ी थी भाभी, तो पति ने भी भर दिया परचा, दिलचस्प हुआ मुकाबला

अमित शाह ने कहा कि झारखंड में पांच वर्षों तक जीरो करप्शन वाली सरकार चली, मुख्यमंत्री रघुवर दास और सरकार पर कोई भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे। उन्होंने मंच से ही कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी को चुनौती दी कि वे पांच साल बनाम 55 साल के शासन के मुद्दे पर चुनाव लड़े। उन्होंने कहा कि पार्टी पूर्ण बहुमत में आती है, तो अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के आरक्षण को कम किए बगैर अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लोगों के आरक्षण बढ़ाने के लिए कमेटी का गठन करेगी। उन्होंने झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जब अलग झारखंड राज्य के लिए लड़ाई करने वालों पर कांग्रेस शासनकाल में गोलियां और लाठियां बरसाई जाती थी, उस कांग्रेस पार्टी से झामुमो ने कुर्सी हासिल करने के लिए समझौता कर लिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता सर्वोच्च अदालत में जाकर कहते थे कि राम जन्म भूमि का केस चलाने की जरूरत नहीं है, लोगों की ताकत से हमने आग्रह किया कि केस चलना चाहिए, जिसका परिणाम ये आया है कि सुप्रीम कोर्ट ने जजमेंट दिया कि अयोध्या में ही राम मंदिर बनेगा।

 

यह भी पढ़ें: हेलीकॉप्टर ने 18 मतदान कर्मियों को झारखंड की बजाय छत्तीसगढ़ छोड़ा...हड़कंप

 

झारखंड में पांच वर्षों में किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने देवघर, बोकारो, दुमका और जमशेदपुर में एयरपोर्ट बनाएं। रांची में कैंसर अस्पताल बनाया, हजारीबाग-पलामू और दुमका में मेडिकल कॉलेज बनाए और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 20 लाख किसानों को लाभ पहुंचाने का काम किया। पांच साल के अंदर एक प्रकार से विकास की गंगा को आदिवासी, पिछड़े समाज के घर में पहुंचाने का काम किया।


झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Video: डाल्टनगंज सीट पर जमकर बवाल, कांग्रेस प्रत्याशी के.एन त्रिपाठी पुलिस हिरासत में

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned