भारत के एक प्रसिद्ध मंदिर की अनोखी परंपरा,जहां आज से शुरू हुआ 16 दिवसीय नवरात्र महोत्सव

रांची से करीब 100 किलोमीटर दूर मां उग्रतारा का प्रसिद्ध मंदिर है। यहां की एक अनोखी परंपरा है। माता का मंदिर लोगों के लिए अटूट आस्था और विश्वास का प्रतीक है।

By: SHASHANK PATHAK

Updated: 23 Sep 2019, 05:11 PM IST

रांची।

झारखंड की राजधानी रांची से करीब 100 किलोमीटर दूर लातेहार के चंदवा में मां उग्रतारा का प्रसिद्ध मंदिर है। यहां की एक अनोखी परंपरा है। पूरे देश में नवरात्र शुरू होने में अभी 6 दिन बाकी हैं लेकिन मां उग्रतारा मंदिर में आज से ही शारदीय नवरात्र शुरू हो गया। मंदिर की वर्षों पुरानी परंपरा के अनुसार यहां 16 दिनों का शारदीय नवरात्र मनाया जाता है। भक्तों की भारी भीड़ को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिला पुलिस के साथ ही जवानों की भी तैनाती की गई है।

माता का मंदिर लोगों के लिए अटूट आस्था और विश्वास का प्रतीक है। यह प्रसिद्ध यह मंदिर काफी पुराना बताया जाता है, जिसमें मां उग्रतारा विराजती हैं। मंदिर में सुबह की आरती के बाद कलश स्थापना की गयी, जिसके बाद मां के दर्शन के लिए 16 दिनों तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहेगा।

मंदिर का संचालन आज भी शाही परिवार के लोग ही करते हैं। मंदिर के नियम के अनुसार श्रद्धालुओं को गर्भगृह में जाने की मनाही है। पुजारी गर्भगृह में जाकर श्रद्धालुओं के लाए प्रसाद का भोग माता को लगाते हैं। प्रसाद में मुख्य रूप से नारियल और मिसरी का भोग लगाया जाता है।

SHASHANK PATHAK Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned