इटखोरी से शुरू हुई थी बुद्ध की आध्यात्मिक यात्रा,दर्शन लाभ लेने के लिए सीएम ने चीन के बौद्ध धर्मावलंबियों को किया आमंत्रित

इटखोरी से शुरू हुई थी बुद्ध की आध्यात्मिक यात्रा,दर्शन लाभ लेने के लिए सीएम ने चीन के बौद्ध धर्मावलंबियों को किया आमंत्रित

Prateek Saini | Publish: Sep, 06 2018 02:46:26 PM (IST) Ranchi, Jharkhand, India

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की धरती पर चीन के हेनान प्रांत से आने वाले ह्वेनसांग और फाहियान भारत के इतिहास के अमिट हस्ताक्षर हैं...

(पत्रिका ब्यूरो,रांची): मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने पांच दिवसीय चीन यात्रा के क्रम में बुधवार को चीन के हेनान प्रांत के कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन के पार्टी सेक्रेटरी वॉन गुशांग से मुलाकात की। इस द्विपक्षीय वार्ता के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की धरती पर चीन के हेनान प्रांत से आने वाले ह्वेनसांग और फाहियान भारत के इतिहास के अमिट हस्ताक्षर हैं। झारखण्ड के इटखोरी से ही भगवान बुद्ध की आध्यात्मिक यात्रा की शुरूआत हुई थी। हेनान प्रान्त से हमारे अतीत के बेहतर रिश्तों की तरह भविष्य में भी बहुत बेहतर संबंध की अपेक्षा है।

 

मुख्यमंत्री ने झारखंड राज्य में 29-30 नवंबर 2018 को आयोजित होने वाले ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट 2018 के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इसमें विश्व के कई देशों के एग्रिकल्चर और फूड प्रोसेसिंग से संबंधित कंपनियां भाग लेंगी। हेनान प्रांत में फूड प्रोसेसिंग की लगभग 30 हजार से अधिक कंपनियां काम कर रही हैं, झारखंड में इनके निवेश की बहुत बड़ी संभावनाएं हैं। मुख्यमंत्री ने वान गुशांग सहित हेनान प्रांत के प्रतिनिधिमंडल को ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट में भाग लेने के लिए आमंत्रण दिया।


बैठक में वान ने मुख्यमंत्री रघुवर दास का स्वागत किया। भारत और चीन के बढ़ते संबंध पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि इस साल भारत के प्रधानमंत्री और चीन के राष्ट्रपति के बीच तीन बार मुलाकात हो चुकी है और ये भारत-चीन के कूटनीतिक संबंधों को एक नया आयाम दे रहा है।


चीन दौरे पर सीएम,ले रहे हर व्यवस्था का जायजा

बता दें कि इन दिनों झारखंड सीएम रघुवर दास के नेतृत्व में एक दल चीन दौरे पर है। इस टीम ने शंघाई प्रांत की शहर व्यवस्था और अन्य चीजों का निरीक्षण किया इसके साथ ही सीएम ने चीन के उद्योगपतियों को राज्य में होने वाले ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट 2018 में भाग लेने के लिए भी आमंत्रित किया।


यह भी पढे: चीन-भारत मिलकर कार्य करें तो वर्ल्ड ट्रेड में दोनों देशों की बड़ी भागीदारी होगी-सीएम दास

Ad Block is Banned