139 करोड़ के बजट से पहले श्मशान ने उड़ा दी नेताओं की नींद

139 करोड़ के बजट से पहले श्मशान ने उड़ा दी नेताओं की नींद

By: sachin trivedi

Published: 30 Jul 2018, 02:12 PM IST

रतलाम. शहर के विकास का सबसे बड़ा आधार नगर निगम का साधारण सम्मेलन करीब 9 माह के बाद 31 जुलाई को प्रस्तावित किया गया है। नियमों के तहत इस अवधि तक चार सम्मेलन किए जाने थे, लेकिन विकास की बजाय आपसी झगड़ों में उलझे जिम्मेदार शहर के मुद्दों से ही दूरी बना रहे है। सम्मेलन से ठीक पहले भाजपा और कांग्रेस में गुटबंदी का नजारा दिखाई दे रहा है। कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान पूर्व पार्षदों के साथ वर्तमान नेता प्रतिपक्ष व पार्षदों के नहीं आने के मामले पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष को सफाई देना पड़ रही है। वहीं, भाजपा के पार्षदों के सामने एजेंडा के बिन्दुओं पर महापौर का दो टूक जवाब रास नहीं आ रहा है।

 

शहर विकास के मुद्दों की बजाय एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति
भाजपा के बहुमत वाली नगर निगम में मंगलवार को इस वर्ष का पहला सम्मेलन आहुत होने से पहले ही विवादों में आ गया है। सम्मेलन का एजेंडा सभी 49 पार्षदों को दिया गया है, लेकिन इनमें से ज्यादातर पार्षद इस पर सहमत नहीं दिख रहे है। पार्षदों के विरोध के बीच राजनीतिक तौर पर भी भाजपा और कांग्रेस में आरोप-प्रत्यारोप गहरा गया है। बीते दो दिनों के दौरान तीन घटनाक्रम और बैठकों में दोनों ही दलों की गुटबंदी खुलकर सामने आ गई है। हालात ये हो गए है कि बड़े नेताओं को सफाई देकर मामले को सुलझाने का प्रयास करना पड़ रहा है। भाजपा की ओर से जिलाध्यक्ष कान्हसिंह चौहान समन्वय कर रहे हैं तो कांग्रेस की ओर से शहर अध्यक्ष विनोद मिश्रा ने सार्वजनिक तौर पर सोशल मीडिया पर सफाई दी है।
भाजपा: महापौर-निगम अध्यक्ष में टकराव से बंट गए पार्षद
- नगर निगम में सबसे ज्यादा पार्षदों वाली भाजपा में महापौर डॉ. सुनीता यार्दे और निगम अध्यक्ष अशोक पोरवाल के बीच मुद्दों का टकराव पार्षदों को भी बांट गया है। एक सप्ताह के दौरान भाजपा को दो बार बैठक कर पार्षदों के असंतोष को थामने का प्रयास करना पड़ा है। भाजपा के जिला कार्यालय और इसके बाद एक निजी होटल में बैठक के दौरान जिलाध्यक्ष कान्हसिंह चौहान ने समन्वय किया। रविवार को भी पार्टी की ओर से जिला संगठन पदाधिकारी समन्वय में जुटे रहे।
इस मसले पर विरोध गहराया
बैठक के दौरान महापौर ने आधुनिक श्मशान की भूमि के चयन का प्रस्ताव एजेंडे से बाहर नहीं बताकर विवाद को भड़का दिया। पार्षदों से भी इस पर टकराव है।

सभी एकजुट है
भाजपा पार्षद दल के साथ दो बार चर्चा हो चुकी है और किसी भी मसले पर विरोध नहीं है। कुछ सुझाव आए हैं, इन पर कार्य हो रहा है। सभी भाजपा पार्षद और अन्य प्रतिनिधि शहर विकास के लिए एकजुट है।
- कान्हसिंह चौहान, जिलाध्यक्ष भाजपा

 

महापौर ने पार्षदों को दिया दो टूक जवाब तो शहर कांग्रेस अध्यक्ष दे रहे सफाई

नगर निगम में पहले ही दो फाड़ में बंटी कांग्रेस में भी सम्मेलन से पहले गुटबंदी खुलकर सामने आ गई है। शनिवार को महिला कांग्रेस अध्यक्ष अदिति दवेसर और शहरी ब्लॉक अध्यक्ष बबीता नागर की अगुआई में प्रदर्शन के दौरान नेता प्रतिपक्ष यास्मीन शैरानी, प्रेमलता दवे और वरिष्ठ कांग्रेस पार्षदों का नहीं होना चर्चा में आ गया। सोशल मीडिया पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला। हालांकि नेता प्रतिपक्ष शैरानी और महिला कांग्रेस अध्यक्ष दवेसर संगठन का बचाव करते रहे।
इस मसले पर विरोध गहराया
शहर में कीचड़ पर कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान नेता प्रतिपक्ष ने नगर निगम में पार्षदों की बैठक रख ली थी। इस पर विरोध और आरोप-प्रत्यारोप गहरा गया है।

सभी कांग्रेसी एक है
मैने सभी से आव्हान किया है कि कोई भी क्रिया की प्रतिक्रिया नहीं करे, सभी कांग्रेसजन एक है और एक रहेंगे। यह कांग्रेस को कमजोर करने की विरोधियों की साजिश है। शहर विकास के लिए कांग्रेस सभी मुद्दे उठाएगी।
- विनोद मिश्रा, अध्यक्ष शहर कांग्रेस रतलाम

Show More
sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned