राहत के लिए साढ़े चार करोड़ के प्रकरण तैयार

राहत के लिए साढ़े चार करोड़ के प्रकरण तैयार
राहत के लिए साढ़े चार करोड़ के प्रकरण तैयार

Mukesh Mahawar | Updated: 18 Sep 2019, 05:47:27 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

जिले में फसलों की नुकसानी का चल रहा सर्वे

रतलाम. बारिश के थमने के साथ ही अब नुकसानी का आंकड़ा बढऩे लगा है। हर रोज इसकी संख्या में इजाफा हो रहा है। जिले में नुकसानी को लेकर भोपाल से प्रमुख सचिव राजस्व एवं राहत आयुक्त ने कलेक्टर से जानकारी मांगी है। जिले में 31 जुलाई से 17 सितंबर तक करीब साढे़ चार करोड़ की नुकसानी आंकी गई है। इसमें अभी फसलों की नुकसानी शामिल नहीं हुई है। उसका सर्वे होने के बाद यह आंकड़ा और भी बढ़ जाएगा।
दो दिन पूर्व बारिश के दौरान बिजली गिरने, पानी में बहने, कुएं में डूबने से होने वाली जनहानि में मौत का आंकड़ा 21 से अब 32 तक पहुंच चुका है। वहीं नुकसानी का आंकड़ा डेढ़ करोड़ से बढ़कर अब चार करोड़ 34 लाख 26 हजार 200 रुपए तक पहुंच गया है। इतना ही नहीं बारिश के चलते मकानों के क्षतिग्रस्त होकर आमजन को होने वाली इस नुकसानी में 2915 मकान क्षतिग्रस्त होना बताए गए। शासन के पास भेजी गई इस जानकारी में फिलहाल फसलों को हुई नुकसानी का जिक्र नहीं है।


जिले में बारीश से खराब फसलों का हो रहा सर्वे
बारिश के चलते जिले में बड़ी मात्रा में फसलों को नुकसान होना बताया जा रहा है। बारिश थमने के बाद अब अधिक बारिश से खराब हुई फसलों की नुकसानी का आंकलन करना भी प्रशासनिक अमले ने शुरू कर दिया है। सर्वे का यह काम कृषि विभाग के साथ प्रशासन का अमला भी कर रहा है, जिसकी फाइनल रिपोर्ट तैयार होने के बाद शासन को भेजी जाएगी। हालांकि लगातार बारिश के चलते जिले में इस बार सोयाबीन की आवक कम होने की बात कहीं जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned