सप्ताह के अंतिम दिन बड़ी संख्या में जिला अस्पताल पहुंचे मरीज

सप्ताह के अंतिम दिन बड़ी संख्या में जिला अस्पताल पहुंचे मरीज

harinath dwivedi | Publish: Sep, 09 2018 05:36:06 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 05:36:07 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

जिला अस्पताल में डॉक्टरों के चैंबर की बजाय दवाइ काउंटर पर लगी रही लंबी कतारें

रतलाम. सप्ताह का आखिरी दिन होने से शनिवार को जिला अस्पताल में मरीजों की बड़ी संख्या पहुंची। यहां डॉक्टरों के चैंबर के बाहर तो कम लेकिन पर्ची काउंटर और दवाइ काउंटर के सामने लंबी कतारें लगी रही। कई मरीजों के साथ परिजन नहीं होने से मरीजों को ही लाइन में लगना पड़ा और वे अपनी बारी का इंतजार करते हुए इस तरह थक चुके थे कि आखिर में उन्हें लाइन के बीच ही बैठकर आगे बढऩा पड़ा। दवाइ काउंटर भी इतनी दूर होने से मरीजों के सामने परेशानी आई। कई मरीजों के साथ परिजन नहीं होने से मरीजों को ही लाइन में लगना पड़ा और वे अपनी बारी का इंतजार करते हुए इस तरह थक चुके थे कि आखिर में उन्हें लाइन के बीच ही बैठकर आगे बढऩा पड़ा। दवाइ काउंटर भी इतनी दूर होने से मरीजों के सामने परेशानी आई।


आगे दो दिन तक अवकाश : आगामी दो दिनों तक अवकाश होने से भी कई बार थोड़ी तकलीफ होने पर भी मरीज अस्पताल जाकर संतुष्ट होना चाहते हैं। रविवार और फिर सोमवार को भी शासकीय अवकाश होने से कई मरीज तो ऐसे थे थोड़ी तकलीफ पर भी अस्पताल पहुंचे थे। ऐसे में वास्तव में बीमार मरीजों को भी इनके चक्कर में लाइन में लगकर इंतजार करना पड़ा।


मलेरिया से बचाव की दवाइ बांटी : कोटावाला बाग स्थित श्री विचक्षण विद्यापीठ में लायंस क्लब के सहयोग से मलेरिया से बचाव की हौम्योपैथिक दवाइ का वितरण विद्यार्थियों को किया गया। क्लब के दीपक चौरडिय़ा, आलोक गांधी, आदर्श राखेचा, महेश सोनी, मिलन दासोत, रवींद्र मालू, कमल लालन, हेमंत बोथरा, ओपी मिश्र और केएम सांखला विशेष तौर से मौजूद रहे।

ओपीडी में डॉक्टरों की कमी का रोना
जिला अस्पताल की सामान्य ओपीडी में आए दिन डॉक्टरों की कमी का मामला सामने आता है। जिला अस्पताल की सामान्य ओपीडी में एकमात्र डॉक्टर की ड्यूटी लगती है। सामान्य ओपीडी में ड्यूटी के दौरान ही इमरजेंसी केस, दुर्घटना आदि के आने और पोस्टमार्टम होने से यहां के डॉक्टर को जाना पड़ता है जिससे यह ओपीडी खाली हो जाती है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned