शिवराज सरकार के इस आदेश ने कांग्रेस को दे दिया बड़ा मुद्दा

शिवराज सरकार के इस आदेश ने कांग्रेस को दे दिया बड़ा मुद्दा

By: sachin trivedi

Published: 23 May 2018, 01:52 PM IST

रतलाम. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मंदसौर गोली कांड की पहली बरसी पर ठीक उसी इलाके के पिपलियांडी में सभा करने की अनुमति तो मिल गई है, लेकिन जिन शर्तों पर सभा की अनुमति मिली है, उसमें सभा तो दूर पांच लोगों की बैठक भी ठीक से नहीं हो सकती है। राहुल गांधी की सभा के लिए जिला प्रशासन ने सिर्फ 15 बाय 15 फीट का टेंट लगाने की अनुमति दी है। राहुल की सभा के लिए कुल 19 शर्तें लगाई गई हैं। इसके साथ ही अनुमति पत्र में यह भी लिखा गया है कि अगर इनमें से किसी भी शर्त का उल्लंघन किया जाएगा, तो यह अनुमति अपने आप ही समाप्त हो जाएगी। महज 15 बाय 15 फीट के टेंट में सभा की अनुमति से कांग्रेस असमंजस में है। उसका आरोप है कि जानबूझकर राहुल गांधी के कार्यक्रम को प्रभावित करने के लिए इस तरह की शर्त डाली गई है।

मंदसौर के पिपलिया मंडी इलाके में ही 6 जून 2017 को प्रदर्शन के दौरान उग्र हुए किसानों पर पुलिस फायरिंग की गई थी और इस गोली कांड में 6 किसानों की मौत हो गई थी। इस गोलीकांड के दो दिन बाद 8 जून को राहुल गांधी मृतकों के परिजनों से मिलने जाना चाहते थे, लेकिन उन्हें राजस्थान की बार्डर पर नयागांव के करीब ही रोक लिया गया था। कांग्रेस ने मंदसौर गोलीकांड की बरसी को लेकर बड़ी सभी की तैयारी की है। राहुल गांधी के साथ ही इस सभा में कमलनाथ, दिग्विजय सिंह , ज्योतिादित्य सभी बड़े नेता शामिल होंगे। राहुल पिछले साल गोलीकांड में मृत हुए किसानों के परिजनों से भी मिलने उनके घर जा सकते हैं।

 

प्रभारी मंत्री ने कहा है कि सभा को असफल करो
पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता नरेंद्र नाहटा का कहना है कि मंदसौर-नीमच की प्रभारी मंत्री अर्चना चिटनिस सोमवार को यहां के दौरे पर थी। नाहटा ने कहा कि चिटनिस ने राहुल गांधी की सभा को असफल करने के लिए पार्टी के नेताओं को कहा है। उनका आरोप है कि राहुल की सभा की अनुमति एक छोटे से टेंट में करवाने की शर्त पर देना उसी का हिस्सा हो सकता है, हालांकि उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने कांग्रेस को राहुल की सभा बिना किसी अवरोध के कराने का आश्वसान दिया है।

पत्र मैंने नहीं देखा

राहुल गांधी की सभा की अनुमति का पत्र मैंने नहीं देखा है। अगर उसमें 15 फीट के टेंट में सभा की शर्त रखी गई है, तो इसे दिखवा लेते हैं। अनुमति पत्र में कमी होगी तो उसे ठीक करवा देंगे।
ओपी श्रीवास्तव, कलेक्टर, मंदसौर

sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned