अंधेरे में कट रही ग्रामीणों की जिंदगी, नहीं मिला सौभाग्य योजना का लाभ

ग्रामों में अभी भी नहीं लगे ट्रांसफॉर्मर, जिले में सौभाग्य योजना की स्थिति बयां करती रिपोर्ट

By: harinath dwivedi

Published: 07 May 2018, 05:41 PM IST

रतलाम/रावटी. मध्यप्रदेश पश्चिमी क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी जिले में सौभाग्य योजना के 100 प्रतिशत पहुंचाने का दावा कर रही है। यह दावा कागजों में नजर आ रहा है। आदिवासी अंचल में स्थिति इसके उलट है।
हाल यह कि कई पोलों पर अभी कैबल नहीं डली है, कई पोल तो ट्रांसफार्मर लगने का इंतजार कर रहे हैं। हाल यह कि इस योजना के तहत उपयोग में आने वाला सामान इधर उधर पड़ा है। हाल यह कि इस योजना पूरी करने वाले ठेकेदार कही दिखाई नहीं दे रहा है। रावटी क्षेत्र के ग्राम सिंदुरिया व मोरटक्का का पत्रिका टीम ने जायजा लिया तो स्थिति उलट नजर आई।
सिंदुरिया
ग्राम सिंदुरिया में 100-125 घर है। इनमें करीब ५०० लोग निवास करते हैं। यहां पर पहले 10 से 12 पोल लगे थे। वहीं योजना के तहत 70-80 पोल लग ाए गए है। लेकिन इन पर अभी न केबल डली है न ही तार। हाल यह कि सिंदुरिया में अभी भी पोल को ट्रॉसफार्मर का इंतजार है। घर के सामने बिजली का सामान पड़ा है। कई स्थानों पर तार लटके हुए हैं। लोगों के यहां पर कनेक्शन नहीं पहुंचे हैं। ग्राम पंचायत तंबोलिया के सरपंच जमनालाल डोडियार ने बताया कि ग्राम सिंदुरिया में 60 से 70 घरों में कनेक्शन हो चुके हैं। लेकिन अभी तक ट्रॉसफार्मर नहीं लगे हैं। इससे सप्लाई चालू नहीं हो पाई है।
मोरटक्का
ग्राम मोरटक्का में ३०० घरों में करीब ९०० से १००0 लोग निवासरत है। यहां पर पूर्व में सात-आठ पोल ही थे।योजना के तहत 160 पोल लगे हैं। लेकिन इन पर भी करंट प्रवाहित नहीं हो पाया है। योजना के तहत लगने वाला सामान आंगनवाड़ी भवन, स्कूल के अतिरिक्त कक्ष व खंभे के नीचे पड़ा है। कनेक्शन नहीं दिए गए हैं। क्षेत्र के कई मजरे, टोले व टापरों में बिजली पहुंचना बाकी है।
सप्लाई चालू नहीं
ग्राम पंचायत डाबड़ी के सरपंच सेनाबाई देवदा ग्राम में अभी भी ग्राम में करीब 70 से 80 कनेक्शन होना बाकी है। 100 लोगों के यहां मीटर लगा दिए हैं लेकिन बिजली सप्लाई चालू नहीं की है। ग्रामीणों को अब भी योजना के इंतजार में अंधेरे में ही अपनी जिंदगी बिताना पड़ रही है।
तंबोलिया फलिया में खंभे भी नहीं लगे हैं। हाल यह कि यहां पर पंचायत व राशन की दुकान आदि है। इसके बाद भी बिजली नहीं पहुंच पाई है। 600 लोगों की आबादी वाली ग्राम उमरवट्टा में करीब 120-130 मकान हैं। यहां पर ६0 प्रतिशत घरों में बिजली नहीं है। यहां पर भी योजना के तहत अभी खंभे नहीं लगे हंै।
योजना को पूरा करने में अभी 30 जून तक समय
सौभाग्य योजना को पूरा करने में अभी 30 जून तक समय है। सैलाना विधानसभा क्षेत्र में अभी योजना के तहत कार्य किया जा रहा है। जो लोग बिजली का उपयोग कर रहे हैं। उन्हे योजना में शामिल कर लिया है। जहां पर बिजली का उपयोग बिलकुल नहीं हो रहा है। उन्हें सोलर ऊर्जा के माध्यम से बिजली प्रदान की जाएगी।
बीएल चौहान, अधीक्षण अभियंता, मप्र पश्चिमी क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी, रतलाम।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned