जोरदार बारिश में भी बच्चों को नहीं मिल रहा पानी

जोरदार बारिश में भी बच्चों को नहीं मिल रहा पानी

By: Akram Khan

Published: 20 Jul 2018, 05:45 PM IST

रतलाम। (जावरा) शिक्षा के स्तर में सुधार लाने और बालिका शिक्षा पर करोंडो खर्च करने के बाद भी चंद जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आज भी नौनिहालों को भुगतना पड़ा रहा हैं। शासकीय लचरता के चलते बच्चों से स्कूलों की सफाई करवाई जाती हैं, पीने के लिए उन्है साफ शुद्ध पानी तक नसीब नहीं होता हैं। इतना ही नहीं इन स्कूलों में बालिकाओं के लिए बने शौचालयों में भी उपयोग के लिए पानी उपलब्ध नहीं रहता हैं, ऐसे में बच्चियों को शौच के लिए जंगल में जाना पड़ता हैं, और उस दौरान उनके साथ किसी घटना का अंदेशा बना रहता हैं।

ऐसा ही एक मामला जावरा से महज २ किलोमीटर दूर बसे ग्राम भीमाखेड़ी के प्राथमिक विद्यालय का प्रकाश में आया हैं। यहां प्राथमिक विद्यालय के छोटे छोटे बच्चों के लिए ना तो पीने का पानी हैं, और ना ही बालिकाओं के लिए शौचालय में उपयोग हेतु, ऐसे में नन्ही नन्ही बालिकाओं तथा बच्चों को पीने के पानी के लिए विद्यालय की सीमा से बाहर जाना पड़ता हैं, तो बालिकाओं को शौच के लिए अन्यत्र। लेकिन इस और कोई भी जवाबदार ध्यान नहीं दे रहा हैं। जनप्रतिनिधियों से लेकर सभी अधिकारी एक दूसरे पर मामले को ढोलते हुए अपना पल्ला झाड रहे हैंं। बच्चों के लिए पेयजल की व्यवस्था नहीं होने पर ग्रामीणों ने बताया कि उन्होने भी कई बार पंचायत के पानी के लिए कहा लेकिन यहां के सरपंच और सचिव नहीं सुनते हैं, पीएसई विभाग के अधिकारियों के साथ ही विधायक से भी इस मामले में चर्चा की जा चुकी हैं, लेकिन समस्या को आठ माह बीतने के बाद भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई हैं। सांसद ने पेयजल के लिए टेेंकर भी प्रदान किया हैं, लेकिन उसका उपयोग केवल निजी कामों के लिए ही होता हैं, पंचायत चाहे तो प्रतिदिन टेंकर के माध्यम से स्कूल में पानी भरवा सकती हैं। वहीं विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी से भी एक बार लिखित और कई बार मौखिक शिकायत की गई, लेकिन कोई भी इस और ध्यान नहीं दे रहा हैं। हालांकि इस मामले में लोक स्वास्थ्य उपयंत्री ने आश्वासन दिया है कि जल्दी ही समस्या का समाधान करवा दिया जाएगा। इसके लिए जो प्रक्रियागत आवश्यकता होगी उसे करेंगे।

शासकीय प्राथमिक विद्यालय प्रधानाध्यापक वरदीचन्द्र सोनगरा से जब बच्चों के लिए पेयजल की व्यवस्था ना होने और शौचालय में भी पानी की उपलब्धता ना होने पर चर्चा की गई तो प्रधानाचार्य ने बताया कि बच्चों के लिए पीने के पानी तथा शौचालय में उपयोग के लिए टंकी तो लगाई गई हैं, जिसमें पानी विद्यालय परिसर में लगे ट्यूब वेल से चढ़ाया जाता था, लेकिन पिछले करीब 8 माह से ट्यूबवेल में मोटर गिर गई हैं, जिससे पानी की सप्लाई बंद हो गई हैं। बच्चों के लिए पानी की व्यवस्था करने के लिए कई बार पंचायत के सरपंच तथा सचिव से कहा गया लेकिन कोई भी सुनवाई नहीं कर रहा है।

नया लगवा देंगे

पूराना नलकुप हैं, मोटर अंदर उतर गई हैं तो वह पूरी तरह से खराब हो चुका हैं, बीईओ हमें इस मामले में पत्र देते हैं, स्कूलों में नलकुप खनन करने का फंड आने वाला हैं, नया नलकुप लगावा देंगे। सुविधा मिलने लगेगी।
इरफान अली खान, उपयंत्री, लोक स्वास्थ यात्रिकी विभाग, जावरा

Akram Khan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned