तबादले के बाद भी पुलिसकर्मी नहीं चाहते थाना छोडऩा

डीआईजी बोले- सभी को होना होगा रिलीव जल्द बैठाई जाएगी व्यवस्था

By: harinath dwivedi

Published: 05 May 2018, 05:34 PM IST

रतलाम। डीजीपी ने तीन साल से अधिक समय से थाने व जिले में पदस्थत पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों के थाने बदलने के आदेश जारी किए थे। जिसके बाद आईजी ने एसआई और टीआई के तबादले के आदेश जारी किए थे। वहीं एसपी ने हैड कांस्टेबल व कांस्टेबल के तबादले के आदेश जारी किए थे। लेकिन हालत यह है कि पुलिसकर्मी थाना छोडऩा ही नहीं चाहते है। तीन माह से भी अधिक बीत जाने के बाद वह रिलीव नहीं हुए है और आला पुलिस अधिकारी व्यवस्था बिठाने की बात कर रहें हैं। एसपी कार्यालय से जारी स्थानांतरण सूची के अनुसार ५ एएसआई, ९ आरक्षक सीसीटीएनएस, २७ प्रधान आरक्षक और ८३ आरक्षकों के स्थानांतरण किए गए थे। जिन्हें जल्द ही कार्यभार संभालने के आदेश जारी हुए हैं।

पांच के स्थानांतरण
एएसआई नागूलाल बसेर, खुशाल सिंह को स्टेशन रोड थाने से आईए थाना, एएसआई अशोक दीक्षित को नामली से जावरा शहर थाना, एएसआई अमर पाल सिंह को माणक चौक से नामली, एएसआई बच्चन खां को यातायात थाने से लाइन में पदस्थ किया है।

पांच साल से एक ही थाने में
जावरा शहर थाने में आरक्षक जयंतीलाल पाटीदार, अनिल पाटीदार, राहुल राठौड़, ओमप्रकाश, विष्णु चंद्रावत और जावरा औद्योगिक थाने में घनश्याम नगार इन्हें दस साल से अधिक एक थाने में जमे हो गया है। एेसा ही रतलाम शहर में है। शिकायतों के ढेर के बाद भी अभिषेक पाठक लंबे समय से टिके हैं। स्टेशन रोड़ थाने पर सुभाष सिंह राठौर, यातायात में सुभाष अहिरे, माणक चौक में हिमांशु यादव, प्रदीप पाल, मनीष यादव, मदनलाल नामली थाना, दीपक सिंह यातायात थाना, तरूणेंद्र शेखर माणक चौक थाना, प्रेमसिंह इस प्रकार कई आरक्षक थाना छोडऩे को तैयार नहीं है। जबकि वह एक ही जिले में है, जबकि कुछ का तो एक ही शहर में थाना बदला है लेकिन सभी ने अपने बाजार में एेसे पैर जमा रखे है कि इन बेडियों तोडऩे के लिए तैयार नहीं है।
सभी को होना होगा रिलीव
डीजीपी के आदेश के बाद तीन साल से अधिक समय से पदस्थ टीआई व एसआई व पुलिसकर्मियों के तबादले हुए है। अधिकांश रिलीव हो चुके है। कुछ व्यवस्था के कारण रिलीव नहंी हुए है, उन्हें भी जल्दी रिलीव किया जाएगा। मई माह तक जिन पुलिसकर्मी के जिले में तबादले हुए है, वह भी आ जाएंगे। इससे व्यवस्था बन जाएगी। अगर एक साथ सभी को रिलवी किया तो दिक्कत आएगी।
जितेंद्र कुशवाह, डीआईजी रतलाम रेंज

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned