Chanakya Niti: रिश्तों में मिठास बनाये रखने के लिए कभी न भूलें चाणक्य की ये बातें

Chanakya Niti: महान विद्वान् आचार्य चाणक्य ने अपनी चाणक्य नीति में लिखा है कि रिश्तों को बनाये रखने के लिए उनमे सच्चाई, ईमानदारी और विनम्रता होनी चाहिए नहीं तो रिश्तों को टूटते समय नहीं लगता।

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य भारत के महानतम लोगों में से एक थे। इन्होंने धर्म, राजनीति, अर्थव्यवस्था, समाज आदि विभिन्न विषयों पर अपने मतों को खुल कर व्यक्त किया। हजारों साल पहले इनके द्वारा दी गई शिक्षा आज भी प्रासंगिक है। गुप्त साम्राज्य में इनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। साधारण से दिखने वाले बालक को इन्होंने भारत का महान शासक बना दिया था। इन्होंने कई महान ग्रंथों की रचना की, जिनका आज के समय में भी काफी ज्यादा मूल्य है। आचार्य चाणक्य अपने समय के महान अर्थशास्त्री थे। एक राजा को राजव्यवस्था कैसे चलानी चाहिए? उसका पूरा उल्लेख हमें इनके द्वारा लिखी गई पुस्तक अर्थशास्त्र में मिलता है। उस समय आचार्य चाणक्य ने सामाजिक और व्यवहारिक रिश्तों को लेकर लोगों को कई अच्छी-अच्छी बातें बताईं, जिसका जिक्र हमें चाणक्य नीति में मिलता है।

ईमानदारी
आचार्य चाणक्य के अनुसार रिश्तों में सच्चाई और ईमानदारी का होना बहुत जरूरी है। उनका कहना था कि यही दो चीजें हैं, जो रिश्तों को मजबूत बनाती हैं। झूठ और धोखे के आधार पर बना रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं टिकता। उसका एक दिन अंत हो जाता है।

अहंकार का करे त्याग
आचार्य चाणक्य के मुताबिक रिश्तों में कभी भी अहंकार को नहीं आने देना चाहिए। इससे आपस में खटास पैदा होती है। अहंकार आपसी लोगों के बीच दरार डाल देती है। इससे रिश्ते खराब होने जाते हैं और आपस में दुश्मनी पैदा हो जाती है।

बनाये रखें गरिमा
उनके अनुसार व्यक्ति को सदा गरिमापूर्ण आचरण रखना चाहिए। गरिमापूर्ण आचरण रखने वाला इंसान सदा मीठा बोलता है। इस कारण ऐसे लोगों का दूसरे लोगों के साथ संबंध काफी अच्छा होता है। वहीं दूसरी तरफ बुरा बोलने वाले को कोई भी पसंद नहीं करता है।

विनम्रता
आचार्य चाणक्य का कहना था कि विनम्रता रिश्तों में जान डालने का काम करती है। विनम्र व्यक्ति सदा उदार और मीठी बातें करता है, जो दूसरे लोगों को खूब पसंद आती है। इनकी बातें हृदय प्रिय होती हैं। ऐसे लोग सभी के प्रिय होते हैं। उनके मुताबिक हमें हमेशा विनम्र बाते करनी चाहिए। इससे आपसी रिश्तों में मजबूती आती है।

Sandhya Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned