Kanya Sankranti 2021: कन्या राशि में सूर्य के प्रवेश का आपकी राशि पर असर और इसके नकारात्मक प्रभाव से बचने के उपाय

कन्या संक्रांति शुक्रवार, 17 सितंबर 2021 को

हिंदू पंचांग के अनुसार सूर्य हर माह एक राशि में रहने के पश्चात अपने घर में परिवर्तन कर लेता है, सूर्य के इस परिवर्तन को हिंदू संस्कृति में संक्रांति कहते हैं। ऐसे में इस माह यानि अंग्रेजी कैलेंडर 2021 के सितंबर में सूर्य अपनी सिंह राशि से निकल पर 17 सितंबर को बुध की राशि कन्या में प्रवेश करने जा रहे हैं। कन्या राशि में प्रवेश के कारण गोचर की यह स्थिति कन्या संक्रांति कहलाएगी।

सूर्य के इस राशि परिवर्तन के फलस्वरूप के चलते सभी 12 राशियों पर इसका असर देखने को मिलेगा। जहां कुछ राशियों के लिए ये समय लाभदायक होता दिख रहा है, वहीं कुछ राशियों के लिए ये परिवर्तन परेशानी उत्पन्न करता भी दिख रहा है।

 

Surya dev

लेकिन इस परिवर्तन में सबसे खास बात ये है कि सूर्य के कन्या राशि में जाने से पहले से ही यहां कन्या के राशि स्वामी बुध यहां विद्यमान हैं। वहीं 17 सितंबर को सूर्य के भी इस राशि में प्रवेश से यहां बुध और सूर्य का मिलन बुधादित्य योग का निर्माण करेगा।

पंडित एके शुक्ला के अनुसार सूर्य का कन्या राशि में गोचर सितंबर 17, 2021 को दिन में 01 बजकर 02 मिनट पर होगा। जिसके बाद सूर्य यहां 17 अक्टूबर दोपहर 1:00 बजे तक रहेगा और उसके बाद तुला राशि में प्रवेश कर जाएगा।

गोचर का परिणाम व उपाय : 12 राशियों के लिए -

Must Read - September 2021 Rashi Parivartan List: सितंबर 2021 में ये ग्रह कर रहे हैं राशि परिवर्तन

rashi parivartan

1. मेष राशि
सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से छठे भाव यानि रोग व शत्रु भाव में रहेंगे। ऐसे में इस समय आप अपने शत्रुओं पर जीत हासिल करते हुए अपने कार्यों में सफल रहेंगे। कार्यक्षेत्र की हर तरह की परेशानी इस समय दूर हो जाएगी। आर्थिक मामलों में इस समय ऋण या लोन को लेकर अंतिम निर्णय लेने से पहले अच्छी तरह से इसके परिणामों पर सोच समझ लें। स्वास्थ्य से संबंधी परेशानियों से जूझ रहे जातकों के स्वास्थ्य में इस समय सुधार देखने को मिल सकता है।

उपाय: सूर्यदेव को हर रोज अर्घ्य दें।


2. वृषभ राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से पांचवे भाव यानि बुद्धि व पुत्र भाव में रहेंगे। यह समय आपके लिए काफी अनुकूल रहने की संभावना कम है, कारण इस समय आपको कठिनाइयों व चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। एक ओर जहां इस समय आपके व्यवहार में आए बदलाव के चलते आपके संबंध अपने सीनियर्स से तनाव भरे हो सकते हैं। वहीं आपके बच्चों को इस समय स्वास्थ्य समस्याओं से जुझना पड़ सकता है। इसके अलावा अपने जीवन साथी से भी मनमुटााव संभव है। आपमें से कुछ की जीवन में यह समय उनके सम्मान पर भी भारी पड़ता दिख रहा है। इस समय आपको अपनी सेहत का भी विशेष ध्यान रखना होगा।

उपाय: भगवान शिव की हर रोज पूजा करें।


3. मिथुन राशि
सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से चौथे भाव यानि माता व सुख भाव में रहेंगे। इस समय आपको कार्यस्थल पर आत्मविश्वास में कमी से जूझना पड़ सकता है। वहीं शिक्षा के मामले में ये परिवर्तन आपको लाभ देता दिख रहा है। इस समय आपको वाणी पर नियंत्रण रखना होगा। वहीं सेहत के मामले में यह समय आपके लिए अनुकूल रहने की संभावना है। इस समय किसी भी तरह के धोखे से बचने यानि कुल मिलाकर अत्यंत सावधान रहने की आवश्यकता है। माता के स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना होगा।

उपाय: हर रोज श्री गणेश की पूजा करें।

Must Read - Rashi Parivartan of Jupiter: देवगुरु बृहस्पति का मकर राशि में प्रवेश लाया बड़ा खतरा, जानें इस परिवर्तन का असर

rashi parivartan

4. कर्क राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से तीसरे भाव यानि पराक्रम व छोटे भाई बहनों के भाव में रहेंगे। इस समय आपके साहस और पराक्रम में बढ़ौतरी आपको कॅरियर में गति देगी। जिसके कारण आपको अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है।

इस समय आपको कुछ नए सौदे भी मिल सकते हैं। इस समय निवेश अत्यंत सोच समझकर ही करें। इस समय कोई यात्रा आपको अच्छा लाभ दे सकती है। वहीं इस दौरान सेहत ठीक रहने की उम्मीद है। आपमें से अधिकांश के लिए ये समय सुख देने वाला रहने की संभावना है।


उपाय: हर रोज सूर्यदेव को जल देते समय ‘ऊँ घृणि सूर्याय नमः’ मंत्र का जाप करें।


5. सिंह राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से दूसरे भाव यानि धन व वाणी भाव में रहेंगे। इस दौरान आपको अचानक धन लाभ हो सकता है। इस समय आपकी वाणी में बदलाव देखने को मिलेगा, जिसका आपको लाभ भी होने की संभावना है। आपकी स्थिति और सम्मान में सुधार होगा।

उचित होगा कि इस समय वरिष्ठों के साथ किसी भी तरह के मतभेद न पालें और न ही निवेश करते समय जल्दबाजी में निर्णय लें। विदेश में रोजगार तलाश कर रहे जातकों को इस समय सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। इस समय आपकी सेहत गड़बड़ा सकती है, अत: सतर्क रहें। वहीं सड़क में आते जाते अत्यंत सावधान रहें, अन्यथा दुर्घटना की संभावना है।

उपाय: सूर्योदय के समय सूर्य देव को हर रोज जल देने के साथ ही सूर्य प्रणाम भी करें।


6. कन्या राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी ही राशि में यानि प्रथम जिसे लग्न भाव कहा जाता है उसमें रहेंगे। वित्तीय मामले में इसके चलते लाभ कमाने में आपको कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जिससे आर्थिक स्थिति में नकारात्मक प्रभाव बढ़ेगा। इस समय नौकरी में प्रोत्साहन नहीं मिलने से विचलित महसूस करेंगे। इस समय आपकी व्यस्तता काफी रहेगी। सेहत की दृष्टि से ये समय बहुत अच्छी नहीं है, इस समय आपको त्वचा आदि से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: आदित्यह्दय स्त्रोत का हर रोज पाठ करें।

Must Read - उपाय : जो दांपत्य जीवन में उत्पन्न हो रही अलगाव जैसी स्थितियों को मिटाएं!

19 August 2021 Ka Rashifal Today Horoscope 19 August 2021
IMAGE CREDIT: patrika

7. तुला राशि
सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से द्वादश भाव यानि व्यय भाव में रहेंगे। यह समय आपके लिए औसत रहने वाला है। इस समय आपको निवेश करने में और व्यावसायिक भागीदारों से सावधान रहना होगा। इस समय आपकी अपने नजदीकियों से टकराव की स्थिति बन सकती है। विदेश जाने की चाहत रखने वालो के लिए यह समय सकारात्मक परिणाम लाता दिख रहा है।

इस समय आपके खर्चों में इजाफे की संभावना है, लेकिन आपकी समझदारी के चलते यह आपकी आय से अधिक नहीं होंगे। उचित होगा इस समय उन क्षेत्रों में निवेश करने से बचें जहां कम फायदे की उम्मीद है। दांपत्य जीवन में मिश्रित परिणाम मिलेंगे। वहीं इस दौरान सेहत को लेकर खास सतर्क रहना होगा।


उपाय: अपने पिता या पितातुल्य लोगों की सेवा करें।


8. वृश्चिक राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से एकदश भाव यानि आय भाव में रहेंगे। आपके लिए यह गोचर अनुकूल साबित होगा। इस दौरान आपको सफलता और प्रसिद्धि के साथ ही उचित माध्यम से धन प्राप्त होगा।

इस समय नौकरीपेशा जहां अपने उच्च अधिकारियों की प्रशंसा का पात्र बनेंगे, वहीं व्यवसायी इस दौरान सफलता पाएंगे। इस समय आप आशावादी और सकारात्मक बने रहेंगे। दांपत्य जीवन के लिए भी यह समय अच्छा रहेगा। साथ ही स्वास्थ्य की दृष्टि से भी ये समय आपके लिए अनुकूल रहने की संभावना है।

उपाय: रविवार के दिन जरुरतमंदों को दान करें।


9. धनु राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से दशम भाव यानि कर्म व पिता के भाव में रहेंगे। इस दौरान आपको कार्यस्थल पर कड़ी मेहनत करनी होगी। वहीं आपको अपने प्रयासों का अच्छा फल भी मिलने की उम्मीद है। इस समय नौकरी आपकी पदोन्नति के योग हैं।

इस समय आप खुद को नई ऊर्जा से भरा पाएंगे और इसकी मदद से आप अपने कौशल को बढ़ाने की कोशिश करेंगे, जो भविष्य में आपके लिए मददगार साबित होगी। वहीं यह समय निवेश के लिए भी अनुकूल रहने की संभावना है, जिसके परिणाम स्वरूप आपको लाभ की उम्मीद है।

इस समय आपके खर्चे नियंत्रण में रहने के साथ ही आप प्रियजनों के साथ अच्छा समय बिता पाएंगे। सेहत के मामले में इस समय उन लोगों को आराम मिल सकता है, जो लंबे समय से किसी स्वास्थ्य संबंधी परेशानी से जूझ रहे हैं।

उपाय: हर रोज सूर्यदेव को जल देने के साथ ही श्रीराम की भी पूजा करें।

Must Read - Ganesh Chaturthi 2021: गणेश विसर्जन की सरल विधि

2021 Rashi Parivartan

10. मकर राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से नवम भाव यानि भाग्य भाव में रहेंगे। इस समय आपको काफी सतर्क रहना होगा, उचित होगा अपने कॅरियर से जुड़े किसी भी रहस्य को किसी के भी साथ साझा न करें। किसी पर भी अत्यधिक विश्वास न करें। व्यवसाय या नौकरी बदलने की योजना को अभी स्थगित रखना आपके लिए हितकर रहेगा।

वित्तीय स्थितियां इस समय औसत रहेंगी, वहीं सीमित आय इस दौरान निराश का कारण बन सकती है। दांपत्य जीवन में इस समय मानसिक शांति का अभाव रहेगा। इस समय आपकी विदेश यात्रा हो सकती है। वहीं इस दौरान आपको अपनी व अपने स्वजनों की सेहत को लेकर गंभीर रहना होगा।

उपाय: हर रोज सूर्य नमस्कार करें।


11. कुंभ राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से अष्टम भाव यानि आयु भाव में रहेंगे। इस समय आपको कॅरियर में कई चुनौतियों का तो वहीं और व्यक्तिगत जीवन में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। नौकरी में वरिष्ठों का सहयोग नहीं मिलने से आंतरिक राजनीति का शिकार भी हो सकते हैं।

इस समय व्यापार से जुड़ी छोटी दूरी की यात्राओं व जल्दबाजी के निर्णयों से बचें। वहीं इस दौरान अचानक लाभ आपको प्रसन्नता प्रदान करेगा। इस समय आपके परिजनों से संबंध में सुधार की संभावना है। सेहत के मामले में इस समय आपको हड्डियों या मसल पेन से आपको जुझना पड़ सकता है।

उपाय: भगवान शंकर की शिव चालीसा का हर रोज पाठ करें।


12. मीन राशि

सूर्यदेव इस समय आपकी राशि से सप्तम भाव यानि विवाह भाव में रहेंगे। इस समय जीवनसाथी से अहम के टकराव की संभावना है, उचित होगा खुद पर अहंकार हावी न होने दें। वहीं कार्यस्थल पर आपको विरोधियों के कारण कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता हैं।

यह गोचर व्यावसायिक रूप से आपके लिए औसत साबित होगा, क्योंकि आप अपने काम में प्रगति प्राप्त करेंगे, लेकिन खुद के गुस्से पर नियंत्रण भी रखना होगा। इस समय कि गई यात्राएं अनुकूल परिणाम देती नहीं दिख रही हैं, अत: जहां तक हो सके किसी भी आधिकारिक यात्रा से बचें।

सेहत के मामले में इस समय आपको अपनी सेहत का खास ध्यान रखना होगा, वहीं इस समय आप मानसिक तनाव देने वाले पर बुरी तरह से नाराज भी हो सकते हैं।

उपाय: विष्णु सहस्त्रनाम या रामरक्षास्त्रोत का हर रोज पाठ करें।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned