किस्मत संवारने के लिए होली पर जरूर करें ये उपाय

होली से पहले, होली के बाद और होली के दिन कुछ विशेष उपाय करने से किस्मत संवर जाता है।

By: Devendra Kashyap

Published: 08 Mar 2020, 02:55 PM IST

हिंदू धर्म शास्त्रों में बताया गया है कि विशेष तिथियों और अवसरों पर शुभ-अशुभ शक्तियां ब्रह्मांड में सक्रिय हो जाती है। उन्हीं को अनुकूल बनाने के लिए कुछ उपाय किये जाते हैं। होली का त्यौहार भी उन्ही में से एक है। कहा जाता है कि होली से पहले, होली के बाद और होली के दिन कुछ विशेष उपाय करने से किस्मत संवर जाता है। आइये जानते हैं कि होली के मौके पर आपको क्या करना है...


अगर आपको लगता है कि किसी ने आपके खिलाफ कोई टोना टोटका कर रखा है तो होली की रात में जहां होलिका दहन हो, उस जगह पर पर एक गड्ढा खोदकर उसमें 11 अभिमंत्रित कौड़ियां डाल दो और ढंक दें। अगले दिन कौड़ियों को निकालकर अपने घर की मिट्टी के साथ नीले कपड़े में बांधकर बहते जल में प्रवाहित कर दें। माना जाता है कि ऐसा करने से जो भी तंत्र क्रिया आप पर किसी ने किया होगा, वह खत्म हो जाएगा।

अगर आप पर किसी भी प्रकार के कर्ज से परेशान हैं तो जिस स्थान पर होली जलनी है, उस स्थान पर एक छोटा-सा गड्ढा खोदकर उसमें तीन अभिमंत्रित गोमती चक्र और तीन कौड़ियां दबा दें। इसके बाद मिट्टी में लाल गुलाल व हरा गुलाल मिलाकर उस गड्ढे को भरकर उसके ऊपर पीले गुलाल से कर्जदार का नाम लिख दें। ऐसा करने से आप कर्ज से मुक्ति पा लेंगे।


जब होली जले तब आप पान के पत्ते पर 3 बतासे, घी में डुबोया एक जोड़ा लौंग, तीन बड़ी इलायची, थोड़े-से काले तिल व गुड़ की एक डली रखकर तथा सिन्दूर छिड़ककर पान के पत्ते से ढंक दें और सात बार परिक्रमा करते हुए इस मंत्र 'ल्रीं ल्रीं फ्रीं फ्रीं अमुक कर्ज विनश्यते फट् स्वाहा' का जप करते हुए एक-एक गोमती चक्र होलिका में डाल दें। ध्यान रखें कि इस दौरान कर्जदार का भी नाम लें।

अगर बिना बात के पति-पत्नी में कलह हो रहा है तो होली जल जाने के बाद होलिका की थोड़ी-सी अग्नि लेकर घर आएं फिर घर के आग्नेय कोण में उस अग्नि को तांबे या मिट्टी के पात्र में रख दें और सरसों के तेल का दीपक जला दें। माना जाता है कि इस उपाय से घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाएगी।

Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned