संकटकाल में भी गरीबों का निवाला हजम कर गए समिति प्रबंधक व सेल्समैन

नईगढ़ी पुलिस ने कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी की शिकायत पर दर्ज किया मामला, पुलिस कर रही जांच

By: Shivshankar pandey

Updated: 10 May 2021, 08:48 AM IST

रीवा। फरवरी व मार्च माह की खाद्यान का समिति प्रबंधक व सेल्समैन ने मिलकर बंदरबांट कर लिया और हितग्राहियों को उसका वितरण ही नहीं किया गया। खाद्य विभाग ने इस पूरे मामले की जांच कराई और शिकायत सही मिलने पर जांच प्रतिवेदन थाने को सौंपा जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

कलेक्टर से की थी लोगों ने शिकायत
नईगढ़ी थाने के सेवा सहकारी समिति बन्नई अन्तर्गत शासकीय उचित मूल्य की दुकान मुरली में समिति प्रबंधक रामसुमिरन साकेत व सेल्समैन राजकुमार पाठक ने यह पूरा फर्जीवाड़ा किया था। उचित मूल्य की दुकान से हितग्राहियों को खाद्यान्न व केरोसिन का वितरण नहीं किया गया था। इस पूरे मामले की शिकायत स्थानीय लोगों ने जिला कलेक्टर से की जिस पर कलक्टर ने खाद्य विभाग को जांच सौंपी। कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी रोहित सिंह बघेल ने जब पूरे मामले की जांच की तो पूरा फर्जीवाड़ा सामने आ गया।

भौतिक सत्यापन में सामने आइ्र हकीकत
दुकान के भौतिक सत्यापन व पीओएस मशीन में दर्ज शेष स्टाफ का पोर्टल से मिलान कराया गया को 153.53 क्विंटल गेहूं, 29.83 क्विंटल चावल, 2.13 क्विंटल नमक व 62 किलो शक्कर स्टॉक में कम पाया गया जिसकी कीमत 4 लाख 22 हजार रुपए थी। फरवरी व मार्च माह का खाद्यान्न शासन द्वारा वितरित नहीं किया गया था। सरपंच ने समिति प्रबंधक से इसकी शिकायत की थी लेकिन खाद्यान्न हितग्राहियों को नहीं दिया गया जिसके बाद जिला कलेक्टर से शिकायत की गई। जांच प्रतिवेदन के आधार पर नईगढ़ी पुलिस ने समिति प्रबंधक राम सुमिरन साकेत व सेल्समैन राजकुमार पाठक के खिलाफ खयानत का मामला दर्ज किया है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। फिलहाल दोनों आरोपी फरार है।

स्टॉक में ज्यादा मिला केरोसीन, हितग्राहियों को नही किया वितरण
निरीक्षण के दौरान शासकीय उचित मूल्य की दुकान में केरोसीन स्टॉक में अधिक पाया गया। करीब 240 लीटर केरोसीन ज्यादा मिला है। सेल्समैन ने हितग्राहियों से पीओएस मशीन में फर्जी वितरण दिखा कर हितग्राहियों को केरोसिन नहीं दिया। केरोसिन को दुकान में रखकर समिति प्रबंधक व सेल्समैन खुर्दबुर्द करने की तैयारी में थे। कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने हितग्राहियों से भी जब केरोसिन मिलने की जानकारी ली तो उन्होंने वितरण नहीं होने की बात बताई।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned