विश्वविद्यालय प्रबंधन और कर्मचारियों में टकराव बढ़ा, आज महासभा में आंदोलन का होगा ऐलान

कर्मचारी संघ की बैठक में कुलपति को एक अवसर और देने पर चर्चा, मांगें पूरी नहीं होने पर करेंगे विरोध

 

रीवा। अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में कर्मचारियों और प्रबंधन के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर लगातार प्रदर्शन करते जा रहे हैं, वहीं विश्वविद्यालय प्रबंधन दीक्षांत समारोह की तैयारियों को लेकर व्यस्त है और कर्मचारियों द्वारा उठाईगईमांगों पर कोईप्रति उत्तर नहीं दिया है। जिसके चलते कर्मचारियों की ओर से अब बड़ा आंदोलन छेडऩे की चेतावनी दी गईहै।

कर्मचारी संघ की ओर से सप्ताह भर पहले दीक्षांत समारोह के नाम पर फिजूलखर्ची का आरोप लगाया गया था और परिसर में कराए जा रहे कुछकार्यों को रोका भी गया था। साथ ही कुलपति से मिलकर कर्मचारी नेताओं ने पूर्व से स्वीकृत मांगों को अमल पर लाए जाने की मांग की थी। कर्मचारी संघ की ओर से दिए गए ज्ञापन में अब तक कुलपति एवं कुलसचिव की ओर से कोईजवाब नहीं दिया गया है। इस वजह से कर्मचारियों की नाराजगी बढ़ गईहै। मंगलवार को कर्मचारी संघ की कार्यकारिणी की बैठक हुई, जिसमें तय किया गया है कि जो भी मांगें संगठन की ओर से की जा रही हैं और विश्वविद्यालय प्रबंधन की ओर से उस पर आने वाली प्रतिक्रिया के बारे में सभी कर्मचारियों को बताया जाएगा। इसके लिए विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ ने २२ जनवरी को महासभा का आयोजन किया है। जिसमें यह ऐलान किए जाने की तैयारी है कि आगामी २८ जनवरी को होने वाले दीक्षांत समारोह में कर्मचारियों की ओर से कोईभागीदारी नहीं दी जाएगी और राज्यपाल के सामने भी विरोध प्रदर्शन कर अपनी मांगों से अवगत कराया जाएगा।

कल विश्वविद्यालय में तालाबंदी की तैयारी

कर्मचारी संघ के नेताओं ने कहा हैकि महासभा में दीक्षांत समारोह का बष्किार करने के ऐलान के साथ ही आंदोलन प्रारंभ कर दिया जाएगा। इसके तहत २३ जनवरी को विश्वविद्यालय में तालाबंदी कर कर्मचारी अपना विरोध दर्जकराएंगे। प्रबंधन की ओर से इसके बाद भी यदि कोईनिर्णय कर्मचारियों के हित में नहीं लिया जाएगा तो उग्र प्रदर्शन भी होगा।

कुलपति ने अधिकारियों की बैठक ली

दीक्षांत समारोह की तैयारियों को लेकर कुलपति प्रो. पीयूष रंजन अग्रवाल ने अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें अब तक की तैयारियों को लेकर समीक्षा हुई। साथ ही कर्मचारियों द्वारा आंदोलन की चेतावनी देने पर भी चर्चाहुई। हालांकि इस पर कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों को कोईआधिकारिक सूचना नहीं दी गईहैऔर न ही बैठक में लिए गए निर्णय को ही सार्वजनिक किया गया है।

कर्मचारियों की समस्याओं पर प्रशासन का ध्यान नहीं है। दीक्षांत समारोह के नाम पर फिजूलखर्ची हो रही हैऔर कर्मचारियों के लिए आर्थिक संकट बताया जाता है। इसलिए हमने महासभा की बैठक बुलाई है, उसमें प्रस्ताव रखेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे।
बुद्धसेन पटेल, अध्यक्ष विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ


कर्मचारियों ने अपनी कुछ मांगें रखी हैं, जिन पर विचार किया जा रहा है। साथ ही उनके संघ के पदाधिकारियों से भी बात चल रही हैकि वह दीक्षांत समारोह की तैयारियों में काम करें। उम्मीद है, इसका समाधान जल्द निकाल लेंगे और बेहतर तरीके से दीक्षांत समारोह का आयोजन होगा।

्प्रो. पीयूषरंजन अग्रवाल, कुलपति एपीएसयू रीवा

Manoj singh Chouhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned