Corona (covid 19 ) : कोरोना से जंग लडऩे समूह की महिलाओं ने संभाला मोर्चा, पढि़ए, पूरी खबर

जिले में एनआरएलएम की 200 से ज्यादा महिलाएं तैयार कर रहीं मास्क, व सैनेटाइजर

By: Rajesh Patel

Updated: 01 Apr 2020, 12:31 PM IST

रीवा. देश में मास्क और सेनेटाइजर की भले ही किल्लत हो, लेकिन यहां पर मास्क की कोई कम नहीं होगी। ऐसा इस लिए कि लॉक डाउन के दौरान कोरोना से जंग लडऩे के लिए समूह की समहिलाओं ने मोर्चा संभाल लिया है। जिले में मास्क की कमी को पूरा करने के लिए स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने वीणा उठा लिया है। महिलाओं ने अब तक 20 हजार से ज्यादा मास्क प्रशासन को सौंपा है।

बीस हजार से ज्यादा तैयार कर लिया मास्क
एनआरएलएम से जुड़ी समूह की ये महिलाएं विश्व स्वास्थ्य संगठन के मापदंडो को पूरा करते हुए महज तीन दिन के भीतर 20 हजार से ज्यादा मास्क निर्माण का मिशाल पेश किया है। इस मूहिम में जिलेभर की 200 से अधिक महिलाएं जुटी हुई है। जिलेभर की कई स्वसहायता समूह एनआरएलएम के सहयोग से मास्क का निर्माण करने में जुटे हुये है।

एक मीटर कपड़े में 8 से 10 मास्क कर रहीं तैयार
समूह की महिलाएं दिनरात एक करके मास्क का निर्माण कर रही है। समूह की सदस्य शिवकुमारी कुशवाहा ने कहा कि देश में इस महामारी से बचाव के लिए मास्क की अत्यंत जरूरत है। कोरोना से बचने के लिए बाजार से एक मीटर कपड़ा लेकर 8 से 10 मास्क तैयार किए। जिसकी लागत 65 रुपए पड़ी। इस संबंध में जिलाधिकारी से फोन कर मास्क बनाने की जानकारी ली। उनके आदेश पर हम सभी महिलाएं मास्क का निर्माण शुरू कर दिया।

प्रतिदिन एक महिला 200 से अधिक बना रही मास्क
प्रतिदिन एक महिला 200 से अधिक मास्क बना रही है। महिलाओं के द्वारा बनाए गए मास्क हमारी पंचायत, जिला एवं देश के लिए काम आएगा। एनआरएलम के डीपीएम अजय प्रताप सिंह ने बताया कि जिले के 56 स्वसहायता समूहो की लगभग 200 महिलाएं मास्क और सेनेटाइजर बना रही है। तीन दिन के भीतर महिलाओं ने 18,700 मास्क का निर्माण किया है।

500 लीटर से ज्यादा तैयार किस सेनेटाइजर
स्व सहायता समूह की महिलाओं ने 500 लीटर सेेनेटाइजर का निर्माण किया है। खास बात यह है कि महिलाओं ने स्वास्थ्य संबंधी सभी मापदंडो को पूरा किया है। प्रशासन स्वसहायता समूहों मास्को लेकर जिले के मेडिकल कॉलेज, प्रमुख अस्पताल, जिला पंचायत, जनपद पंचायत, सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो और मेडिकल स्टोर को मुहैया करा रहा है। ताकि जिले में मास्क की कोई दिक्कत सामने ना आए। कोरोना 19-के नोडल अधिकारी एवं जिला सीइओ अर्पित वर्मा ने बताया कि स्वसहायता समूहों की यह मूहिम निश्चित ही कारगर साबित होगी। कोरोना वायरस से जंग लडने में मदद मिलेगी और लोगों को कम दर पर आसानी से मास्क मिल सकेगा।

Corona virus COVID-19
Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned