स्वरोजगार कर अपने पैरों पर खड़े होना चाहते हैं, नौकरी नहीं दूसरों को रोजगार देना चाहते हैं

स्वरोजगार कर अपने पैरों पर खड़े होना चाहते हैं, नौकरी नहीं दूसरों को रोजगार देना चाहते हैं

Balmukund Dwivedi | Publish: Jul, 14 2018 12:01:41 AM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास मंत्री दीपक जोशी ने आइटीआई का किया आकस्मिक निरीक्षण

रीवा. स्वरोजगार कर अपने पैरों पर खड़े होना चाहते हैं। नौकरी नहीं, दूसरों को रोजगार देना चाहते हैं। आइटीआई के छात्रों ने तकनीकी शिक्षा मंत्री द्वारा पूछे गए सवाल पर यह बातें कही। तकनीकी शिक्षा मंत्री ने आइटीआई में प्रवेश लेने की प्रेरणा के बारे में छात्रों से पूछा था। छात्रों के जवाब से संतुष्ट होने के साथ शिक्षकों को रोजगारोन्मुखी आधुनिक प्रशिक्षण देने की सलाह दी। कहा कि इसमें जो भी बाधाएं आ रही हैं। उन्हें अवगत कराया जाए।

कौशल विकास केंद्र का आकस्मिक निरीक्षण किया
प्रदेश के तकनीकी शिक्षा कौशल विकास रोजगार, स्वतंत्र प्रभार एवं स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी शनिवार को रीवा दौरे पर रहे। उन्होंने पुरुष एवं महिला आइटीआई सहित मुख्यमंत्री कौशल विकास केंद्र का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान छात्रों से रूबरू होते हुए विभिन्न ट्रेडों के प्रशिक्षण की जानकारी ली। प्रशिक्षकों से कहा कि अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को स्वरोजगारोन्मुखी आधुनिक प्रशिक्षण दें ताकि वह प्रशिक्षण के उपरांत स्वरोजगार स्थापना कर आत्मनिर्भर बन सकें। तकनीकी शिक्षा मंत्री ने फि टर, वेल्डर, मैकेनिकल, स्टेनो हिन्दी, कोपा, कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं प्रोग्रामिंग असिस्टेंट आदि ट्रेडों के पठन-पाठन व प्रायोगिक लैब का निरीक्षण किया। लैब की साफ-सफाई को लेकर हिदायत दी। महिला आईटीआई में बेसिक कास्मेटोलॉजी, सिलाइ-कढ़ाई सहित फैशन डिजाइन व मल्टी मीडिया कोर्स आदि ट्रेडों की जानकारी ली। अध्ययनरत छात्राओं से कहा कि ब्यूटी पार्लर व बुटीक स्थापित कर आत्मनिर्भर बनने का मौका है। कड़ी मेहनत कर प्रशिक्षण प्राप्त करें। निरीक्षण के दौरान महापौर ममता गुप्ता, विधायक सिरमौर दिव्यराज सिंह, प्रभारी प्राचार्य सीएल पटेल, उप प्राचार्य बालमीक शर्मा सहित प्रशिक्षण अधीक्षक वीके शुक्ला मौजूद रहे।

लैब में कम छात्र, दी हिदायत
इसके बाद शिल्पी प्लाजा स्थित मुख्यमंत्री कौशल विकास केंद्र पहुंचे। जहां पर लैब में छात्रों की संख्या कम पायी गई। रजिस्टर चेक किया तो कई स्टॉफ भी गैरहाजिर था। जिसे लेकर कड़ी हिदायत दी। कहा कि इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

हॉस्टल में न मिले असुविधा
तकनीकी शिक्षा मंत्री ने आइटीआई परिसर में हॉस्टल सुविधा की जानकारी ली। साफ-सफाई सहित अन्य असुविधाएं जल्द दूर करने के निर्देश जिम्मेदारों को दिए। कहा कि हॉस्टल सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाए। महिला आइटीआई में बताया गया कि 18 छात्राओं का कैंपस सेलेक्शन हुआ है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned