प्रेमी की हत्या कर 6 दिन घर में छिपाए रखा शव, डेढ़ किमी साइकिल से ले जाकर लगाया ठिकाने

प्रेमी की हत्या कर 6 दिन घर में छिपाए रखा शव, डेढ़ किमी साइकिल से ले जाकर लगाया ठिकाने
rewa

Manoj Kumar Singh | Publish: Mar, 14 2019 06:04:04 AM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

रीवा जिले की लालगांव चौकी पुलिस ने किया खुलासा, चार गिरफ्तार

रीवा. युवक की हत्या करके शव को तालाब के समीप गड्ढे में ठिकाने लगाने वाले आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। युवक की हत्या प्रेमप्रसंग के चक्कर में हुई थी। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर रही है। लालगांव चौकी के सरई गांव में 4 मार्च की सुबह युवक का शव तालाब के गड्ढे में मिला था। शरीर पर पत्थर बांधकर शव छिपाया गया था। मृतक की पहचान जितेन्द्र प्रसाद दुबे निवासी भौखरी चौकी लालगांव के रूप में हुई थी।

हत्या की जांच कर रहे लालगांव चौकी प्रभारी गौरव नेमा को युवक का प्रेम प्रसंग गांव की एक लड़की से होने की जानकारी मिली। पुलिस ने संदेहियों पर नजर रखनी शुरू कर दी। इस दौरान लड़की के भाई धमेन्द्र कोरी व रज्जन कोरी की गतिविधियां संदिग्ध लगने पर पुलिस ने पकड़कर पूछताछ की तो शुरू में दोनों गुमराह करने लगे लेकिन सख्ती करने पर वारदात को अंजाम देना स्वीकार कर लिया।
हत्याकांड में उनके साथ ललन गौतम व चित्रसेन पाण्डेय भी शामिल थे। पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने योजना बनाकर वारदात को अंजाम दिया था। युवक का आरोपी की बहन के साथ प्रेम प्रसंग चलता था और इस बात की जानकारी लड़की के परिजनों को हो गई थी। घटना दिनांक के चार दिन पूर्व भी आरोपियों ने युवक से मारपीट की थी। जब युवक नहीं माना तो हत्या की खौफनाक साजिश रच डाली। गला घोंटकर उसकी हत्या की और शव को गड्ढे में छिपा दिया।

अपहरण करके अपने घर ले गए

आरोपियों ने साजिश रचकर युवक की हत्या को अंजाम दिया था। 18 फरवरी को युवक सरई गांव में घूमते हुए मिल गया था जिसका अपहरण करके वे अपने घर ले गए। आरोपियों ने युवक मुंह दबाकर गला घोंट दिया। इसके बाद उन्होंने शव को अपने पुराने वाले खंडहर घर में छिपा दिया। इस दौरान वे शव को ठिकाने लगाने की जगह ढूंढ रहे थे। शव से गंध आने लगी थी जिस पर चारों आरोपी 24 फरवरी को साइकिल से शव करीब डेढ़ किमी दूर ले जाकर तालाब के पास पहुंचे और गड्ढे में पत्थर बांधकर उसे पानी में फेंक दिया।

ऐसे रची साजिश
आरोपियों ने युवक को कई बार बहन के साथ छेडख़ानी न करने की चेतावनी दी थी, लेकिन वह नहीं माना। वह लड़की के भाइयों के साथ ही विवाद करने लगता था। दोनों भाइयों ने मिलकर हत्या की योजना बनाई और उसमें ललन गौतम व चित्रसेन पाण्डेय को शामिल कर लिया। ललन भी उस लड़की के प्रति आकर्षित था और उसका युवक से पैसों के लेनदेन का विवाद था। वहीं चित्रसेन पाण्डेय का पहले से मोटर चोरी को लेकर युवक से विवाद था। फलस्वरूप दोनों साजिश में शामिल हो गए। चौकी प्रभारी गौरव नेमा
ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ कर साक्ष्य एकत्र किए गए है। उनको न्यायालय में पेश कर दिया गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned